छात्रों के साथ अपराधियों जैसा व्यवहार कर रही है योगी सरकार: सपा

166

लखनऊ। लखनऊ विश्वविद्यालय में आयोजित एक समारोह में हिस्सा लेने जा रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का विरोध करने पर गिरफ्तार हुए छात्रों को जमानत न मिलने की समाजवादी पार्टी ने निन्दा की है। समाजवादी पार्टी ने कहा है कि छात्रों ने अहिंसक प्रदर्शन किया था, इसके बावजूद योगी सरकार छात्रों के साथ अपराधियों जैसा व्यवहार कर रही है।




समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने बताया कि गिरफ्तार किए गए छात्रों से पार्टी के एक प्रतिनिधि मंडल ने शुक्रवार को लखनऊ जिला जेल में मुलाकात की। जेल में बंद अधिकांश छात्र सामजवादी छात्रसभा के सदस्य हैं। जिनमें दो छात्राएं भी शामिल हैं।सीएम योगी की सुरक्षा में सेंध, काले झंडे के साथ छात्रों ने रोका योगी का काफिला, देखें वीडियो

पार्टी प्रवक्ता ने कहा कि नौजवानों के साथ जेल में यातनापूर्ण व्यवहार की जितनी भर्तसना की जाये कम है। मौजूदा सरकार को यह ध्यान रखना चाहिए कि विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले छात्र अपराधी नहीं है। उन्होंने मुख्यमंत्री के समक्ष प्रदर्शन कर विश्वविद्यालय में हो रही अनियमितताओं की जानकारी देने का प्रयास किया था। जिसके लिए उनका उत्पीड़न किया जाना निंदनीय है। लोकतंत्र में शांतिपूर्ण धरना-प्रदर्शन करना कोई अपराध नहीं है। प्रशासन से मांग है कि छात्र-छात्राओं के साथ अपराधियों जैसा व्यवहार तत्काल बंद होना चाहिए। छात्राओं के लिये अलग बैरक की व्यवस्था की जाये।




आपको बता दें कि लखनऊ विश्वविद्यालय की ओर से गुरुवार को हिंदवी समारोह का आयोजन किया गया था। इस आयोजन को लेकर भाजपा एवं अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् ने बड़े स्तर पर प्रचार प्रसार किया था, शहर भर में लगीं होर्डिंग्स पर कहीं भी इस आयोजन में विश्वविद्यालय का जिक्र न होने के बाद गुरूवार की सुबह विश्वविद्यालय की ओर से स्पष्टीकरण जारी किया गया था। जिसे आधार बनाते हुए भाजपा विरोधी विचारधारा से प्रभावित छात्र संगठनों के छात्रों ने कार्यक्रम में हिस्सा लेने आ रहे मुख्यमंत्री को काले झंडे दिखाए थे। मौके पर तैनात पुलिस के जवानों ने इस प्रदर्शन का हिस्सा बने 11 छात्रों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। जहां शुक्रवार को किसी भी छात्र को जमानत नहीं मिल सकी।

In this article