बिहार के रॉबर्ट वाड्रा हैं लालू यादव

पटना: लालू प्रसाद बिहार के रॉबर्ट वाड्रा हैं। पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने बेबाक कहा कि लालू प्रसाद एवं उनके पूरे परिवार की संपत्ति की जांच नहीं करायी गयी तो केंद्रीय एजेंसी का दरवाजा खटखटाया जायेगा। पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने लालू प्रसाद पर कई गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि बेनामी संपत्ति को अपने नाम करवाने में माहिर लालू प्रसाद चारा घोटाला को भी विरोधी की साजिश करार देते थे लेकिन हश्र क्या हुआ जेल गये और सजायाफ्ता होने के कारण चुनाव आयोग ने उनके चुनाव लड़ने पर रोक लगा दी है।




पूर्व उपमुख्यमंत्री मोदी ने कहा कि जिस प्रकार हरियाणा में रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ ढिंगरा कमीशन जांच के लिए गठित किया गया था उसी प्रकार बिहार सरकार एक स्वतंत्र आयोग का गठन कर लालू की संपत्ति का जांच कराए। उन्होंने कहा कि लालू पर लगे आरोप तय और साक्ष्यों पर आधारित हैं और उनमें हिम्मत है तो मेरे खिलाफ मानहानि दायर करें। उन्होंने कहा कि नोटबंदी पर सबसे अधिक चिल्ल पो मचाने वाले लालू प्रसाद जानते थे कि एक न एक दिन बेनामी संपत्ति की पोल खुलेगी और नोटबंदी की घोषणा के चार दिन बाद ही उन्होंने डिलाइट कंपनी का नाम बदल कर लारा (लालू राबड़ी) कंपनी कर दिया।




उन्होंने सवालिया लहजे में लालू से पूछा कि वे बतायेें कि प्रेमचंद गुप्ता और एके ट्रेडर्स ने कैसे और क्यों करोड़ों की प्रॉपर्टी लालू को दान में दी। क्यों कांति सिंह ने उन्हें गिफ्ट में करोड़ों की जमीन दान दी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री बनने से पूर्व गरीब का बेटा कहलाने वाले लालू आज 1 हजार करोड़ रुपये का मालिक कैसे बन गये। उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद के पास कोई जवाब नहीं है और वे इस मामले में घिर चुके हैं। उन्होंने कहा कि बौखलाहट में वे गाली गलौज की भाषा पर उतर आये हैं।

Loading...