डीजे वाले बाबू के न आने पर लड़की ने शादी से किया इंकार, दूसरे लड़के से कर ली शादी

बेगूसराय। दूल्हे पक्ष का डीजे न लाना तब महंगा पड़ा जब लड़की वालों ने बरातियों के साथ-साथ दूल्हे को भी बंधक बना लिया। यही नहीं जयमाल हो जाने के बाद भी दूल्हन ने शादी से मना कर दिया और लड़की की शादी किसी दूसरे लड़के से कर दी गयी। यह अनोखी घटना बिहार के बेगुसराय जिले के मंसूरचक थाना क्षेत्र के साठा चक्का गांव की है।




साठा चक्का गांव के महेश पासवान की पुत्री की शादी बछवाड़ा थाना क्षेत्र के झमटिया गांव हरिचरण पासवान के छोटे पुत्र बबलू कुमार के साथ 19 अप्रैल बुधवार को होनी थी। तय कार्यक्रम के मुताबिक बबलू की बारात दुल्हन के घर पहुंची। बारात के दरवाजे पर पहुंचने कर बाद लड़की वालों को पता चला कि बारात के साथ डीजे नहीं आया है। इसी बात पर लड़की वाले आक्रोशित हो गए। डीजे को लेकर दोनों पक्षों में बहस छिड़ गयी और मामला गाली-गलौज तक पहुँच गया। किसी तरह विवाद को शांत कराया गया और जयमाला की रस्म पूरी की गयी। कुछ ही समय में डीजे को लेकर दोबारा विवाद शुरू हो गया, इस बार दोनों पक्षों में मारपीट भी हो गयी। मारपीट के दौरान लड़की और लड़के दोनों के माता-पिता चोटिल हो गए। ऐसे माहौल को देखते हुए बारात में आये लोग वापस चले गए। जिसके बाद लड़की पक्ष ने दूल्हा बबलू कुमार और उसके भाई को बंधक बना लिया और शादी से इंकार कर लेन देन की रकम वापस करने का दवाब बनाने लगे।




इस घटना क्रम के बीच लड़की की तरफ साउंड बजाने वाले चंदन ने अपने जानने वाले समस्तीपुर जिले के दलसिंहसराय निवासी अशोक पासवान के पुत्र जितेंद्र कुमार को पूरे मामले से अवगत कराया, जिसके बाद जितेंद्र लड़की का हाथ थामने को तैयार हो गया। उसके बाद लड़की की शादी गुरुवार की सुबह जितेंद्र के साथ कराई गई। इस पूरे मामले में लड़की के दादा रामलखन पासवान ने बताया कि गत 12 अप्रैल को लड़के के घर झमटिया में तिलकोत्सव का आयोजन था, हम लोगों ने यथासंभव दान दहेज भी दिया था और वहीं पर यह बात तय की गयी थी कि बारात में लड़का पक्ष डीजे लाएगा। हम सब शादी को लेकर काफी उत्साहित थे, पर लड़की के भाग्य में कुछ और ही लिखा था।

Loading...