पर्यावरण मंत्री अनिल दवे का निधन, पीएम मोदी बोले- यह मेरी निजी क्षति

184

नई दिल्ली| केंद्रीय पर्यावरण मंत्री अनिल दवे का गुरुवार को दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया| वह 61 वर्ष के थे| दवे 2009 से राज्यसभा सांसद थे| उन्होंने 2016 में पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के रूप में शपथ ली थी|





प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर उनके निधन पर शोक जताया है| पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए लिखा, “मैं कल शाम को अनिल दवे जी के साथ था, उनके साथ नीतिगत मुद्दों पर चर्चा कर रहा था| उनका निधन मेरा निजी नुकसान है| उन्हें लोग जुझारू लोक सेवक के तौर पर याद रखेंगे| पर्यावरण संरक्षण की दिशा में वह काफी जुझारू थे|”

दवे का जन्म छह जुलाई 1956 को उज्जैन के भदनगर में हुआ था| अनिल शुरुआत से ही आरएसएस से जुड़े हुए थे और नर्मदा नदी बचाओ अभियान में काम कर रहे थे| वह राज्यसभा में साल 2009 मध्यप्रदेश का प्रतिनिधित्व कर रहे थे|


जल संसाधन समिति और सूचना और प्रसारण मंत्रालय के सलाहकार समिति में भी थे| ग्लोबल वार्मिंग पर संसदीय समिति के भी वह सदस्य रह चुके हैं|

In this article