यूपी में बूंदाबांदी के आसार

लखनऊ: पश्चिमी विक्षोभ व बुधवार को राजधानी सहित कई जनपदों में आंधी-बारिश का असर प्रदेश के अधिकतर जनपदों में पड़ा है। पिछले कई दिनों से पड़ रही प्रचण्ड गर्मी से राहत मिलने के साथ ही कई जनपदों में अधिकतम व न्यूनतम पारा सामान्य से नीचे गिर गया। बुधवार से पूर्व जहां अधिकतर जनपदों में पारा 40 से अधिक चल रहा था वहीं अब अधिकतर जनपदों में पारा 40 के नीचे आ गया है। प्रदेश में इटावा में सबसे अधिक गर्मी रही जहां अधिकतम तापमान 42.2 डिग्री सेल्यिस रहा।



दूसरे नम्बर पर इलाहाबाद रहा जहां तापमान 42 डिग्री सेल्सियस रहा। मौसम विभाग का कहना है कि दो-तीन दिनों तक राजधानी सहित प्रदेश के कुछ जनपदों में गरज के साथ बौछार के आसार हैं, जिससे लोगों को गर्मी से राहत मिलेगी। कुछ जनपदों में आंधी के भी आसार हैं।बुधवार को राजधानी में हुई बारिश का असर बृहस्पतिवार को भी देखने को मिला। सुबह से लेकर शाम तक कई बार बादलों की आवाजाही से लोगों को तपिश से राहत मिली। हालांकि बुधवार की अपेक्षा अधिकतम पारा दो डिग्री सेल्सियस बढ़कर 39.3 तक पहुंच गया लेकिन यह सामान्य से एक डिग्री कम था।

न्यूनतम तापमान सामान्य से चार डिग्री कम 21.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। पूर्व में राजधानी में अधिकतम व न्यूनतम पारा क्रमश: 45 व 28 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया था जिससे दिन के साथ ही लोगों को रात में भी गर्मी से हलकान थे। मौसम विभाग के निदेशक जेसी गुप्त ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ का असर अभी बना हुआ है जिससे राजधानी में शुक्रवार को बादलों की आवाजाही रहेगी। गरज के साथ बौछार भी हो सकती है। शुक्रवार को अधिकतम तापमान 38 व न्यूनतम तापमान 27 डिग्री सेल्सियस तक रहेगा।




पश्चिमी विक्षोभ का असर प्रदेश के अधिकतर जनपदों में देखने को मिला। पश्चिमी विक्षोभ से भले ही प्रदेश के अधिकतर जनपदों में बारिश नहीं हुई लेकिन बादलों की आवाजाही से अधिकतम तापमान कम होने से लोगों को गर्मी से राहत मिली है। अधिकतर जनपदों में अधिकतम तापमान 40 से नीचे रहा जबकि बुधवार से पूर्व 40 से अधिक चल रहा था। गोरखपुर, बहराइच, बरेली, झांसी, बलिया, चुर्क, कानपुर हरदोई में अधिकतम तापमान सामान्य से कम रहा।

Loading...