हर हफ्ते सांसदों-विधायकों से मिलेंगे योगी आदित्यनाथ

लखनऊ: मुख्यमंत्री प्रत्येक शुक्रवार को शाम चार से पांच बजे के बीच सांसदों और प्रत्येक सोमवार और बृहस्पतिवार को उसी समय विधायकों से मुलाकात कर सकते हैंमुख्यमंत्री ने प्रतिनिधियों से इसलिए मिलने का फैसला किया है ताकि वे उनके इलाके के लोगों के शिकायती पत्रों को उन्हें सौंप सकेंइसके अलावा, मुख्यमंत्री उनके साथ बैठक कर अच्छे सुझाव प्राप्त कर सकते हैं और जमीनी हकीकत के बारे में जानकारी हासिल कर सकते हैं




उत्तर प्रदेश में हर रोज जनता से मिलने वाले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सांसदों और विधायकों से मिलने का समय नियत किया। कि मुख्यमंत्री अब प्रत्येक शुक्रवार को शाम चार से पांच बजे के बीच सांसदों और प्रत्येक सोमवार और वृहस्पतिवार को उसी समय विधायकों से मुलाकात कर सकते हैं। बैठक उनके एनेक्सी कार्यालय की पांचवें मंजिल पर होगी।सांसदों और विधायकों को बैठक के दौरान किसी को साथ नहीं लाने का अनुरोध करते हुए योगी कहा कि जन प्रतिनिधियों को अपने निर्वाचन क्षेत्रों में अधिक समय देना चाहिए और लोगों की समस्याओं का निराकरण कर उनकी सहायता करनी चाहिए। मुख्यमंत्री ने प्रतिनिधियों से इसलिए मिलने का फैसला किया है ताकि वे उनके इलाके के लोगों के शिकायती पत्रों को उन्हें सौंप सकें। इसके अलावा, मुख्यमंत्री उनके साथ बैठक कर अच्छे सुझाव प्राप्त कर सकते हैं और जमीनी हकीकत के बारे में जानकारी हासिल कर सकते हैं।




उधर, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रेल मंत्री सुरेश प्रभु को पत्र लिखकर आगरा जिले के बटेश्वर स्टेशन पर 19041/42 गाजीपुर-बांद्रा टर्मिनस एक्सप्रेस ट्रेन के ठहराव की मांग की है। मुख्यमंत्री ने पत्र में लिखा है कि यदि यह ट्रेन बटेश्वर में रुकती है तो जैन समुदाय के तीर्थ यात्रियों को शौरीपुर बटेश्वर जाने में सुविधाजनक होगी। गौरतलब है कि शौरीपुर बटेश्वर दिगम्बर जैन सिद्ध क्षेत्र है और जैन तीर्थ श्रद्धालुओं की आस्था का केंद्र है। बटेश्वर भाजपा के शीर्ष नेता और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की जन्मस्थली भी है।