नेवी में शामिल हुई सबमरीन खांदेरी, ताकत देखकर उड़ जाएंगे चीन-पाकिस्तान के होश

90

नई दिल्ली| पड़ोसी देश चीन और पाकिस्तान के लिए बुरी खबर है| भारतीय नेवी की ताकत और बढ़ाने के लिए एडवांस्ड टेक्नोलॉजी वाली खांदेरी सबमरीन को नेवी में शामिल किया गया| इस सबमरीन का नाम समुद्र के बीच टापू पर बने शिवाजी महाराज के खांदेरी किले के नाम पर रखा गया है|




अभी यह पनडुब्बी दिसंबर तक समुद्र में और पत्तन में यानी पानी के अंदर और सतह पर परीक्षणों से गुजरेगी| इसमें यह जांचा जाएगा कि इसका प्रत्येक तंत्र पूर्ण क्षमता के साथ काम कर रहा है या नहीं| इसके बाद इसे भारतीय नौसेना में शामिल कर लिया जाएगा|

खांदेरी की खासियत:

सबमरीन खांदेरी को भारत में ही तैयार किया गया है| यह दुश्मन के रडार से बचने में पूरी तरह सक्षम है|

यह दुश्मन पर प्रीसेशन गाइडेड मिसाइल के जरिए सटीक और घातक हमला कर सकता है|

हमले करने के लिए इसमें पारंपरिक टारपीडो के अलावा ट्यूब लॉन्च एंटी शिप मिसाइल्स हैं, जिसे पानी के अंदर या सतह से दागा जा सकता है|

यह सबमरीन उष्णकटिबंधीय मौसम समेत किसी भी हालात में ऑपरेट करने में सक्षम है|

इसमें कम्यूनिकेशन से जुड़े अत्याधुनिक डिवाइस लगी हुई हैं|




यह पानी के नीचे से और सतह से दोनों तरह से दुश्मन पर हमला कर सकती है|

इससे टॉरपीडो के साथ-साथ ट्यूब से भी एंटी शिप मिसाइलें दागी जा सकती हैं|

इसकी स्टैल्थ टेक्नीक इसे दूसरी सबमरीन्स के मुकाबले शानदार व बेजोड़ बनाती है|

In this article