कुछ सालों में गायब हो जाएगी पेट्रोल डीजल से चलने वाली गाड़ियां

27

नई दिल्ली। एक अध्ययन में यह बात सामने आई है कि आनेवाले समय में सड़कों पर अधिकतर गाड़ियां आपको इलैक्ट्रिक से चलती हुई मिलेंगी। कुछ सालों में पेट्रोल डीजल वाली कारें बिलकुल खत्म हो जाएंगी। कहा गया है कि पैट्रोल पंप व स्पेयर पार्ट्स की इतनी कमी हो जाएगी कि लोग इलैक्ट्रिक कारों की तरफ तेजी से रुख करेंगे।




स्टैंडफोर्ड यूनिवर्सिटी के अध्ययन करने वाले टोनी सेबा का कहना है कि तेल का वैश्विक कारोबार साल 2030 तक आते-आते ख़त्म हो सकता है। टोनी ने परिवहन में क्रांतिकारी बदलाव का जिक्र करते हुए ये भी कहा कि जल्द से जल्द यह पूरी तरीके से इलैक्ट्रिक हो जाएगा। इसके पीछे उन्होने बताया कि ऐसा इसलिए होगा क्योंकि इलैक्ट्रिक गाड़ियां जिनमें कार, बस और ट्रक शामिल हैं उनकी परिवहन लागत काफी कम आती है। यही कारण है कि पूरी पेट्रोलियम इंडस्ट्री बंदी की कगार पर आ जाएगी।




यह बात तों तय है कि इलैक्ट्रिक से चलनेवाली कारों को सड़कों पर आने पर वह ट्रांसपोर्ट व्यावसाय की पूरी हालात बदल कर रख देगी।

In this article