श्रीनगर,एलओसी, कुपवाड़ा, आतंकी, kupwada, ऋषि कुमार

कुपवाड़ा हमला: जाबांज ऋषि घायल होकर भी तीन आतंकियों पर पड़े भारी

139

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा स्थित भारतीय सेना के बेस कैंप में गुरुवार की सुबह करीब 4.30 बजे घुसे आतंकवादी जिस योजना के साथ घुसे थे, वह पूरी तरह से नाकाम रही। आतंकवादियों के मनसूबों को नाकाम करने में भारतीय सेना के एक अफसर समेंत तीन जवान शहीद हो गए, जबकि दो आतंकी मार गिराए गए। इस आतंकी हमले में घायल हुए जवान ऋषी कुमार ने अपनी सूझबूझ से न सिर्फ दो आतंकवादियों को मार गिराया बल्कि तीसरे आतंकी को भागने के लिए मजबूर कर दिया।




गुरुवार की सुबह 4:30 बजे के आसपास ऋषि ने देखा कि कैंप की फेंसिंग तोड़ कुछ लोग अंदर घुसने की कोशिश कर रहे हैं। देखते ही ऋषि ने तुरंत पेट्रोल पार्टी को अलर्ट किया तभी आतंकी फेंसिंग तोड़ कैंप में अंधाधुंध फायरिंग करते हुए घुसने में कामयाब हो गए थे। आतंकियों से लोहा ले रहे पेट्रोल पार्टी में शामिल एक जवान नायक बी.वी. रमन्ना आतंकियों की तरफ से हो रही फायरिंग में घायल हो चुके थे और बाद में वे शहीद हो गए।

सफाईकर्मी होकर संभाला मोर्चा

ऋषि कुमार जो कि कैंट के सफाईकर्मी हैं और अपने जज़्बे से वहां अचानक होने वाले आतंकी हमले को संभाला। आतंकियों ने ऋषि कुमार की ओर से फायरिंग की एक गोली ऋषि कुमार के पटका यानी हेडगियर में लगी। गोली लगते ही ऋषि कुमार गिर गए हालांकि उन्हें गंभीर चोट नहीं आई। ऋषि कुमार ने हिम्मत से काम लिया और सुबेदार भूप सिंह की राइफल लेकर आतंकियों पर हमला बोल दिया। ऋषि कुमार ने सैनिकों की बैरक की ओर बढ़ रहे एक आतंकी को वहीं ढेर कर दिया।




गोली लाग्ने के बाद भी हिम्मत नहीं हारे ऋषि

एक आतंकी के घायल होकर गिरते ही दूसरे आतंकी ने ऋषि कुमार पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। जिसमें एक गोली ऋषि कुमार की जांघ में लगी। जख्मी होकर गिरने के बावजूद ऋषि कुमार ने हिम्मत नहीं हारी और अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दिया। ऋषि की फायरिंग से दूसरा आतंकी वहीं ढेर हो गया। अब तीसरे आतंकी ने ऋषि कुमार पर ताबड़तोड़ फायरिंग करना शुरू कर दिया। ऋषि कुमार ने तीसरे आतंकी की राइफल पकड़ ली। तभी सेना की क्विक रिएक्शन टीम को अपनी तरफ बढ़ते देख तीसरा आतंकी हथियार छोड़ वहां से फरार हो गया।

In this article