मायावती देश की सबसे बड़ी ब्लैकमेलर: नसीमुद्दीन

143

लखनऊ। बसपा से निष्कासित किए जाने के बाद से लगातार मायावती पर हमले कर रहे नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने शुक्रवार को पलवार करते हुए बसपा सुप्रीमो को देश का सबसे बड़ा ब्लैकमेलर करार दिया। नसीमुद्दीन ने कहा कि उनके द्वारा सुबूत के रूप में पेश की गई कॉल रिकार्डिंग्स सुनकर मायावती उन्हें ब्लैकमेलर तो कह दिया लेकिन वह उन्हे बताना चाहते हैं कि कॉल रिकार्ड करना मायावती ने ही उन्हें सिखाया है।




नसीमुद्दीन ने अपने ऊपर लगे ब्लैकमेलिंग के आरोपों का खंडन करते हुए कहा कि अगर किसी के पास एक भी सुबूत हो कि उन्होंने किसी को ब्लैकमेल किया तो पेश करे। उन्होंने जो भी रिकार्डिंग्स की वे सभी स्वयं को जेल से बचाने के लिए सुबूत के तौर पर की हैं। उन्हें मालूम है कि मायावती किसी को भी जेल भेजने का षड्यंत्र रच सकतीं हैं।

नसीमुद्दीन ने अपने ऊपर लगे आरोपों का एक एक कर खंडन करने के बाद कहा कि उन्हें और उनके परिवार को मायावती से जानमाल का खतरा है। मीडिया के सामने ही उन्होंने मुख्यमंत्री से सुरक्षा की मांग करते हुए कहा​ कि उनके पास अभी तक जेड श्रेणी की सुरक्षा थी जिसे वापस ले लिया जा चुका है। वह चाहते हैं कि उनकी सुरक्षा वापस की जाए।




इसके साथ ही अपने ऊपर मायावती द्वारा लगाए गए सदस्यता चंदे के घोटाले के आरोपों का खंडन करने के लिए नसीमुद्दीन ने एक कॉल रिकार्डिंग पेश की जिसमें नसीमुद्दीन से बात कर रहे सदस्यता किताबों का हिसाब रखने वाले पार्टी के पदाधिकारी किसी प्रकार के बकाए की बात को नकारते सुनाई दे रहे थे। अपनी सफाई के साथ नसीमुद्दीन कहा कि उन्होंने कभी भी किसी प्रकार की सदस्यता का गोलमाल नहीं किया है। हालांकि वह जानते हैं कि लाखों की सदस्यता किन लोगों ने डकारी है। सतीश चन्द्र मिश्रा पर सदस्यता के लाखों रुपए का गबन करने का अरोप लगाते हुए नसीमुद्दीन ने मीडिया के सामने ही अपने समर्थक पार्टी नेता से इस बात की गवाही भी करवाई। उन्होंने कहा कि ऐसे कई लोग हैं जो कह देंगे कि उन्होंने मिश्रा के पास सदस्यता जमा करवाई, लेकिन वह पहुंची नहीं।




शुक्रवार को मीडिया कर्मियों से मुखातिब हो रहे नसीमुद्दीन ने एकबार फिर धमकी देते हुए कहा कि मायावती को आगे आगे चलने दो वह सारे आरोपों का जवाब सुबूतों के साथ देंगे। इसके साथ ही उन्होंने सतीश चन्द्र मिश्रा एंड कंपनी और मायावती के भाई आनंद कुमार पर पार्टी और कांशीराम के मिशन को बर्बाद करने के अपने आरोप को दोहराया।

In this article