naseemudin siddiqui, mayawati, bsp, corruption allegations, up, नसीमुद्दीन सिद्दी​की, अफजल सिद्दीकी, मायावती, बीएसपी, सतीश चन्द्र मिश्रा, मायावती का आडियो, उत्तर प्रदेश की राजनीति

बीएसपी का सिर्फ द एंड बाकी है: नसीमुद्दीन

147

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) से निकाले गए नसीमुद्दीन सिद्दी​की ने गुरुवार को अपने और अपने पुत्र पर लगे भ्रष्टाचार और बेनामी संपत्तियों के आरोपों का जवाब देते हुए एक प्रेस काफ्रेन्स का आयोजन किया। मीडिया के सामने अपने दर्द को बयान कर रहे नसीमुद्दीन ने पार्टी के सवर्ण नेता सतीश चन्द्र मिश्रा और उनके दामाद पर आरोप लगाया कि पार्टी सुप्रीमो मायावती को दो तीन लोगों ने अपने चुंगल में फंसा लिया है। अब बसपा को खत्म करने की तैयारी है। जिसकी ​कोशिश में सतीश चन्द्र मिश्रा लगे हुए हैं और मायावती भी चाहतीं हैं कि बतौर दलित नेता देश की राजनीति में उन्होंने हासिल किया वह किसी अन्य दलित को न मिले। इतिहास में केवल मायावती को ही याद किया जाए। ऐसा लगता है कि बीएसपी का सिर्फ द एंड ही बाकी बचा है।




नसीमुद्दीन ने मीडिया के सामने अपने और अपने बेटे अफजल सिद्दीकी पर लगे भ्रष्टाचार और अवैध बूचड़खाने चलवाने और अनुशासनहीनता के आरोपों को सिरे नकार दिया। उन्होंने कहा कि वह दावा करते हैं कि सतीश चन्द्र मिश्रा एक अवैध बूचड़खाना बता दें जिसका संबन्ध सिद्दीकी परिवार के किसी भी सदस्य से हो। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार का जो आरोप उन पर लगा है वह मायावती द्वारा मांगे गए 50 करोड़ रूपए न जुटा पाने के कारण लगाया गया है।




उन्होंने कहा कि अपने जीवन के 35 साल पार्टी में देने के बाद वह नहीं चाहते थे कि वह स्वयं पार्टी छोड़ें। उनके आस पास के लोग और पार्टी के करीबी नेताओं को इस बात का अंदाजा हो गया था कि उन्हें पार्टी से बाहर निकाला जाएगा।

उन्होंने कहा कि पिछले कुछ दिनों से सतीश चन्द्र मिश्रा और मायावती के भाई आनन्द कुमार उन्हें लगातार टार्चर कर रहे थे। निकाय चुनावों के लिए बहाना बनाकर उन्हें 50 करोड़ रूपए जुटाने के लिए कहा गया था। मायावती ने दबाव बनाकर उन्हें संपत्तियां बेंच कर पार्टी के लिए 50 करोड़ जमा करवाने के लिए कहा था।


नसीमुद्दीन ने कहा कि उन्होंने मायावती को समझाने की कोशिश भी की कि वह अपनी तमाम संपत्ति बेंचकर भी 50 करोड़ नगद नहीं जुटा पाएंगे। उन्होंने बताया कि उन्होंने मायावती को समझाने की कोशिश की कि नोटबंदी के बाद 50 करोड़ जैसी बड़ी रकम जुटाना आसान नहीं होगा। संपत्तियों का खरीददार भी उन्हें नगद देने को तैयार नहीं होंगे।

इसके साथ ही नसीमुद्दीन ने अपने दावों की सफाई पेश करते हुए मायावती के साथ फोन पर हुई अपनी बातचीत की रिकार्डिंग भी पेश की जिनमें नगदी के लेन देन की बात की जा रही है। रिकार्डिंग में मायावती को नसीमुद्दीन पर विधानसभा चुनावों टिकटों की बाकी रकम की बसूली के लिए दबाव बनाते स्पष्ट सुना जा सकता है।


नसीमुद्दीन ने मायावती को दी 150 सीडी रिलीज करने की धमकी —

नसीमुद्दीन ने अपने ऊपर लग रहे आरोपों की सफाई के साथ कहा कि अगर उनके ऊपर अगर नए आरोप लगाए गए तो वे ऐसे सुबूत पेश करेंगे जिससे देश की राजनीति में भूचाल आ जाएगा। इशारा देते हुए उन्होंने कहा कि उनके पास पुख्ता सुबूत हैं कि किस तरह से मायावती ने पार्टी के एक नेता की हत्या की साजिश रची थी। नसीमुद्दीन का दावा है कि उनके पास ऐसी 150 सीडी हैं जिनमें उनके पास मायावती के खिलाफ सुबूत हैं। इसके साथ ही नसीमुद्दीन ने धमकी दी है कि उनके पास सतीश चन्द्र मिश्रा, आनन्द कुमार समेंत पार्टी के कई नेताओं की जन्मकुंडली मौजूद है।

In this article