Home पर्दाफाश साप्ताह की बड़ी खबर खबर का असर
Pardaphash Logo
English
Advertisement


तो कृपालु जी महाराज बरसा रहे थे प्रकाशानंद पर कृपा!



Published by: Vineet Verma
Published on: Sat, 29 Sep 2012 at 08:51 IST
वृंदावन| नाबालिग लड़कियों के साथ अश्लील हरकत करने के आरोप में अमेरिका से फरार चल रहे स्वामी प्रकाशानंद के ब्रजभूमि में होने की सम्भावना जताई जा रही है| सूत्रों की माने तो यहां बरसाना में कुटिया बनाकर रहने वाले प्रकाशानंद पर कृपालु महाराज की कृपा बरसी तो स्वामी बन गए।

उल्लेखनीय है कि टैक्सास के ऑस्टिन में 200 एकड़ भूमि में फैले बरसाना धाम मंदिर के संस्थापक स्वामी प्रकाशानंद सरस्वती पर 1993 से 1996 के बीच लड़कियों के साथ कई मौकों पर अश्लील हरकतों का आरोप है। हमेशा व्हीलचेयर पर रहने वाले आध्यात्मिक गुरु प्रकाशानंद सरस्वती को मार्च, 2011 में टेक्सास हेज काउंटी की जूरी ने दोषी ठहराया था। इसके बाद से वह फरार हैं। उन्हें 14 वर्ष कारावास की सजा सुनाई गई। अमेरिका को शक है कि इतनी बड़ी सजा के बाद प्रकाशानंद ह्यूस्टन छोड़कर मैक्सिको भाग गए। जहां श्रद्धालुओं की सहायता से उन्होंने भारत की ओर रुख कर लिया। वैसे विदेश में बसने से पूर्व प्रकाशानंद ने बरसाना धाम में लंबा समय बिताया।

यौन उत्पीड़न में सजा के बाद फरार चल रहे प्रकाशानंद कहां के मूल निवासी हैं, यह किसी को नहीं पता? हालांकि उनके संपर्क में रहे लोगों का मानना है कि भाषा-शैली से पूर्वी उत्तर प्रदेश के होने के संकेत मिलते हैं। चार दशक पहले प्रकाशानंद वृंदावन में बांके बिहारी कॉलोनी में रहते थे। वृंदावन में गुरुधाम और बरसाना में रंगीली महल के लिए जमीन दान करने के बाद वह कृपालु महाराज के संपर्क में आए। उन्होंने न्यूजीलैंड के ऑकलैंड में विशाल आश्रम बनाया। इसके बाद आश्रम का अमेरिका और इंग्लैंड में विस्तार किया।

जब नाम कृपालु जी महाराज का आ ही गया है तो क्यों न उनके बारे में भी थोड़ी बात कर ली जाए| इनका नाम भले ही कृपालू बाबा हो मगर इनका काम इसकी गवाही नहीं देता। दावा किया जाता है कि महाराज भक्‍तों को मुक्ति की मार्ग पर बढ़ाते हैं लेकिन ऐसी भी क्‍या मुक्ति से जीवन ही खत्‍म हो जाये। बाबा ने मुक्ति की राह पर ले जाने की बात क्‍या की 63 लोग दुनिया से चल बसे।

दरअसल मामला उत्तर प्रदेश का है। कृपालू महाराज एक बार अपने आश्रम में मुफ्त बर्तन और धन वितरण करा रहे थे। अचानक किसी अफवाह को लेकर भगदड़ मच गई। भगदड़ में 63 लोगों की कुचले जाने से मौत हो गई। धर्म के नाम पर इतना घोर अधर्म प्रकाश के आने के बाद पूरे प्रदेश में हड़कंप मच गया। हैरत तो तब हुई जब बाबा की ओर से इस झकझोर कर रख देने वाली घटना पर अफसोस जताने के बजाय यह कहलवाया गया कि जो लोग मर गये उन्‍हें वक्‍त ने मारा है।

इस पर वामपंथी नेता बृंदा करात ने कहा था कि जिन ढ़ोगियों व पाखंडियों ने लोगों की धार्मिक आस्‍था का फायदा उठाया है वे निश्चित रूप से अपराधी हैं। उनका कहना है कि आज बाबाओं और स्‍वामियों की ऐसी नस्‍ल तैयार हो गई है जिसका न धर्म से, न सेवा से और न आस्‍था से काई मतलब है।
Previous
एकता कपूर की इफ्तार पार्टी
सोनाक्षी सिन्हा, अक्षय कुमार और इमरान खान फिल्म प्रमोशन करते
शुशांत सिंह और वानी कपूर फिल्म प्रमोशन के दौरान
जॉन अब्राहम फिल्म मद्रास कैफे का प्रमोशन करते हुए
छोटे पर्दे पर फिल्म का प्रमोशन करते शाहरुख़ खान व दीपिका पादुकोन
इमरान खान और सोनम कपूर स्टारडस्ट के कवर लांच पर
कविता वर्मा का हॉट फोटोशूट
धूम 3 के शूटिंग सेट की कुछ अनदेखी तस्वीरें
सन्नी लियोन ने साड़ी पहन करवाया हॉट फोटोशूट
अभिनेत्री जिया खान की शोक सभा में पहुंचे फ़िल्मी सितारे
न्यूयार्क में द अमेजिंग स्पाइडर मैन की शूटिंग के दौरान कलाकार
तेलुगु अभिनेत्री अमांडा का हॉट फोटोशूट
राजनाथ सिंह: अध्यापक से अध्यक्ष बनने तक का सफ़र
सपना भवनानी हुई न्यूड !
महाकुम्भ स्नान करने पहुंची हॉट मॉडल पूनम पांडे
Next

Related Stories:-

BREAKING NEWS
मशहूर कार्टूनिस्ट आर.के. लक्ष्मण का निधन
 
Opinion Polls
क्या आमिर खान की फिल्म पीके पर प्रतिबंध लगना चाहिए ?
हां
नहीं
पता नहीं
Advertisement


Pardaphash name, logo and all associated elements ® and © 2011 Mahakaal News Management Pvt. Ltd.
All rights reserved. Pardaphash and the Pardaphash logo are registered marks of Mahakaal News management Pvt. Ltd.
Valid XHTML 1.0 Transitional
This page is generated in : 0.005 Seconds




EXCLUSIVE: अलीगढ पुलिस पहले ही चेत जाती तो नहीं होती बसपा नेता धर्मेन्द्र चौधरी की हत्या