Home खेल राजनीति बिज़नेस तकनीक मूवी-मसाला दुनिया जीवन मंत्रा क्षेत्रीय शिक्षा पर्दाफाश
Pardaphash Logo
English


आसाराम का बेटा बनाएगा राजनैतिक दल



Published by:
Published on: Sun, 29 Sep 2013 at 11:10 IST
नई दिल्ली : नाबालिग लड़की के यौन शोषण के आरोप में जेल में बंद आसाराम के बेटे नारायण साई जल्द ही अपना राजनैतिक दल बनाने जा रहे हैं| कहा जा रहा है इस दल का नाम होगा 'ओजस्वी', इस के आगे पार्टी लगेगा या फिर दल या मोर्चा इसका अभी खुलासा नहीं हो सका है|

नारायण साई के मुताबिक लंबे समय से हमारे साधक मांग कर रहे हैं कि हम राजनीतिक पार्टी बनाएं और हम जल्द ही पार्टी लॉन्च करेंगे|

ये भी देखें

लंबे समय से फरार आसाराम की सहयोगी और उनके छिंदवाड़ा आश्रम की वॉर्डन शिल्पी ने बुधवार को जोधपुर कोर्ट में सरेंडर कर दिया। शिल्पी ने जोधपुर कोर्ट से अग्रिम जमानत की अर्जी खारिज होने के बाद सरेंडर किया। आसाराम की गिरफ्तारी के बाद से ही पुलिस को शिल्पी की तलाश थी। जोधपुर पुलिस ने शिल्पी की तलाश में छिंदवाड़ा और आसाराम के दूसरे आश्रमों पर दबिश भी ‍दी थी, लेकिन वह हर बार पुलिस से बचती रही। आसाराम के छिंदवाड़ा आश्रम की वॉर्डन शिल्पी पर पीड़ित लड़की को आसाराम से मिलवाने का आरोप है। नाबालिग लड़की का आरोप है कि शिल्पी ने ही उसे जोधपुर आश्रम भेजकर आसाराम से मिलवाया था। शिल्पी को आसाराम का सबसे बड़ा राजदार माना जा रहा है। बताया जा रहा है कि आसाराम के लिए लड़कियों को तैयार करने का काम शिल्पी ही देखती थी। लिहाजा, शिल्पी के सरेंडर से पुलिस को आसाराम के कई दबे राज सामने आने की उम्मीद है।

यदि सूत्रों की माने तो आसाराम और शिल्पी से बातचीत अप्रैल माह में 9321933400 और 7804907062 पर शुरू हुई| यही दो नंबर है जिसमें कैद है कई राज जिसकी मदद से जोधपुर पुलिस आसाराम पर शिकंजा कसना चाहती है| दरअसल इन दोनों नंबरों में पहला वाल नंबर आसाराम बापू का है और दूसरा शिल्पी का है| सूत्र यहाँ तक बताते हैं कि आसाराम इस मोबाइल से बातचीत तो करते थे लेकिन खुद वह कभी पिक नहीं करते थे इसके लिए उनका रसोइया फ़ोन उठाता था और जब जरुरत समझने पर आसाराम के कान में वहीँ लगता था आसाराम उस मोबाइल को कभी हाथ तक नहीं लगाते थे|

सूत्र यह भी बताते हैं कि आसाराम से उनके मैनेजर तक बात करते डरते थे लेकिन जहाँ मार्च तक जानती नहीं थी वहीँ अप्रैल माह बाबा से बातचीत शुरू कर दी| शिल्पी को आसाराम के कहने पर 15 मार्च को हरिद्वार से छिंदवाड़ा गुरुकुल का वार्डन बना कर भेजा गया था| छिंदवाड़ा पहुंचते ही शिल्पी ने नया फोन नंबर लिया और वहा से वह पहली बार आसाराम को 23 अप्रैल को फोन करती है| इसके बाद दूसरी बार वो 27 अप्रैल, फिर 10, 11 जून को फोन करती है| उसके बाद वह फिर अगले महीने यानी कि जुलाई में 22 और 31 जुलाई को फिर आसाराम को फोन करती है| इस दौरान दोनों की लम्बी बातचीत होती है|
इसके बाद 6 अगस्त को पीड़ित लड़की के पेट में दर्द होता है| इधर दर्द उठा उधर अगले ही दिन यानी सात अगस्त को शिल्पी फिर आसाराम को फोन करती है| उसके बाद फिर से उसकी 8 अगस्त को बातचीत होती है| लेकिन इसके बाद जैसे-जैसे ल़ड़की को आसाराम के पास पहुंचाए जाने का वक़्त क़रीब आता जाता है, शिल्पी और आसाराम की बातचीत का सिलसिला बढ़ता जाता है|

9 अगस्त को जब लड़की छिंदवाड़ा गुरुकुल से जोधपुर आसाराम के पास जाने के लिए रवाना होती है, तब भी शिल्पी आसाराम को फिर फोन करती है और उसके बाद 13 अगस्त को वह पीड़ित लडकी आसाराम से मिलने जोधपुर पहुंचती है| इस दौरान वह फिर आशाराम से बातचीत करती है | अब सवाल ये है कि उत्त है छह अगस्त से लेकर 17 अगस्त तक ही शिल्पी और आसाराम के बीच इतनी बातचीत क्यों हुई और 17 अगस्त के बाद से अचानक दोनों के बीच बातचीत क्यों बंद हो गई?
Previous
यूपी एसटीएफ व बिहार पुलिस ने नौ अपहरणकर्ताओं को शारदा अपार्टमेंट से दबोचा
नेपाल में भूकम्प के बाद पसरा तबाही का मंजर, Photos
बॉलीवुड की फिल्म 'पिकू' के ट्रेलर लांच के मौके पर अमिताभ बच्चन, दीपिका पादुकोण और इरफान खान
सोफ़िया हयात की सेक्सी होली
तस्वीरों में देखें फिल्म लीला में सनी लीओन का हॉट अंदाज
आस्कर समारोह में रेड कारपेट पर हॉलीवुड हस्तियां
दृष्टि धामी और नीरज खेमका बंधे परिणय सूत्र में
क्रिकेट विश्व कप की अब तक की विजेता टीमें
सेलेना गोमेज ने वी मैगजीन के लिए करवाया हॉट फोटो शूट
एकता कपूर की इफ्तार पार्टी
सोनाक्षी सिन्हा, अक्षय कुमार और इमरान खान फिल्म प्रमोशन करते
शुशांत सिंह और वानी कपूर फिल्म प्रमोशन के दौरान
छोटे पर्दे पर फिल्म का प्रमोशन करते शाहरुख़ खान व दीपिका पादुकोन
इमरान खान और सोनम कपूर स्टारडस्ट के कवर लांच पर
कविता वर्मा का हॉट फोटोशूट
Next

Related Stories:-

BREAKING NEWS
मैनपुरी: माँ-बेटी को बंधक बनाकर कई दिनों तक किया गया गैंगरेप, इलाज के दौरान माँ की मौत
 
Opinion Polls
मोदी सरकार के एक साल को आप किस तरह आंकते हैं ?
पास
फेल


Pardaphash name, logo and all associated elements ® and © 2011 Mahakaal News Management Pvt. Ltd.
All rights reserved. Pardaphash and the Pardaphash logo are registered marks of Mahakaal News management Pvt. Ltd.
Valid XHTML 1.0 Transitional
This page is generated in : 0.008 Seconds





Mobile Version


EXCLUSIVE: पर्दाफाश: सफलता के स्वर्णिम चार वर्ष