पाकिस्तान, संघर्ष विराम, अरुण जेटली, सुरक्षाकर्मी,Pakistan, ceasefire, Arun Jaitley

सेना को मिला आदेश, पाकिस्तान के दुस्साहस का माकूल जवाब देने के लिए रहे तैयार

422

श्रीनगर। पाकिस्तान सेना द्वारा नियंत्रण रेखा (एलओसी) पारकर दो सुरक्षा कर्मियों का सिर कलम किए जाने की घटना के कुछ दिन बाद रक्षा मंत्री अरुण जेटली ने बुधवार को सेना से कहा कि वह सीमापार से किसी भी तरह के दुस्साहस का माकूल जवाब देने के लिए तैयार रहे। जेटली ने यह बात जम्मू कश्मीर में एक उच्चस्तरीय बैठक में सुरक्षा स्थति की समीक्षा बैठक में कही।

उन्होंने सुरक्षा बलों से विरोधी तत्वों के साथ दृढ़ता से निपटने तथा मासूम लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने का भी निर्देश दिया। सेनाधिकारियों ने कहा कि जेटली बुधवार शाम यहां पहुंचे और इसके बाद उन्होंने सुरक्षा समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की। बैठक में नवनियुक्त रक्षा सचिव संजय मित्रा तथा सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत भी शामिल हुए।




रक्षा मंत्री को जम्मू कश्मीर की वर्तमान स्थिति और सभी सरकारी एजेंसियों के बीच करीबी समन्वय के जरिए घाटी में सामान्य स्थिति बहाल करने के लिए उठाए जा रहे कदमों से अवगत कराया गया। उन्हें नियंत्रण रेखा पर घुसपैठ रोकने का तंत्र मजबूर करने के विभिन्न उपायों के बारे में भी बताया गया।

अधिकारियों ने बताया कि जेटली ने सैनिकों के त्याग, बलिदान और देशभक्ति के जज्बे की प्रशंसा की और कहा कि पूरे देश को उन पर नाज है। उन्होंने सभी सैनिकों से अपना अच्छा काम जारी रखने और खुराफाती तत्वों के साथ कड़ाई से निपटने के दौरान मासूम लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने को कहा। उन्होंने कमांडरों से नियंत्रण रेखा के ईद-गिर्द कड़ी निगरानी रखने और सीमापार से किसी भी तरह के दुस्साहस का माकूल जवाब देने के लिए तैयार रहने को कहा।

जेटली गुरुवार को यहां जीएसटी परिषद बैठक की अध्यक्षता करेंगे। वह मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से मुलाकात भी कर सकते हैं। उधर, पाक रेंजर्स ने बुधवार को जम्मू-कश्मीर के बालाकोट सेक्टर में नियंत्रण रेखा की अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी कर संघर्ष विराम का उल्लंघन किया।





रक्षा प्रवक्ता ने कहा कि पाक सेना ने बालाकोट सेक्टर में नियंत्रण रेखा की अग्रिम चौकियों पर आधी रात को 12 बजकर 50 मिनट पर गोलीबारी करना शुरू की थी। प्रवक्ता ने बताया कि पाकिस्तानी सैनिकों ने जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा पर मंगलवार रात अग्रिम चौकियों एवं असैन्य इलाकों में भी गोलीबारी की थी।

In this article