शराब

दबंग शराब ठेकेदार ने धरने पर बैठी महिलाओं को लाठी-डंडों से पीटा, पुलिस ने नहीं की कोई कार्रवाई!

88

सीकर: राजस्थान के सीकर नीमकाथाना कस्बे में कई दिनों से महिलाएं शराब ठेकों का विरोध कर रही हैं। मंगलवार को शराब ठेके का विरोध करना महिलाओं पर भारी पड़ गया। शराब ठेकेदार ने ठेके के सामने प्रदर्शन कर रही महिलाओं पर लाठी-डंडों से हमला करवा दिया।




हमले में करीब एक दर्जन से अधिक महिलाएं घायल हो गईं। इनमें कई महिलाएं काफी बुजुर्ग भी हैं। सूचना पर पुलिस भी मौके पर पहुंची। कस्बे के वार्ड 23 में शराब ठेके के सामने बैठकर महिलाएं प्रदर्शन कर रही थीं। उनकी मांग थी कि कस्बे में शराब के ठेके को बंद कराया जाए जिस पर शराब ठेकेदार ओमप्रकाश गोयल को महिलाओं की बात नागवार लगी।

इसी दौरान ठेकेदार ने कुछ लोगों को वहां बुला लिया। बताते हैं कि ट्रैक्टर-ट्रॉलियों में भरकर आए लोग लाठी-डंडे और हथियारों से लैस थे। आरोप है कि ठेकेदार का इशारा पाते ही लोगों ने धरने पर बैठी महिलाओं को लाठी-डंडो से पीटना शुरू कर दिया जिसमें करीब एक दर्जन से अधिक महिलाएं घायल हो गईं।




घायल महिलाओं में रेखा राठौड़, सीता, मोना देवी, ममता अग्रवाल, राजबला, सुमन भारद्ववाज, निर्मला यादव, मोना यादव, सोबिता राय आदि शामिल हैं। महिलाओं से मारपीट की सूचना पर डिप्टी एसपी खुशहाल सिंह मय पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए और घटना की जानकारी ली। उन्होंने तुरंत घायल महिलाओं को कपिल अस्पताल पहुंचाया। अस्पताल में महिलाओं का इलाज जारी है। डॉक्टरों ने एक महिला की हालत को गंभीर देखते हुए उसे जयपुर रेफर कर दिया है।

In this article