सपा के शासनकाल में कानून-व्यवस्था पर उंगलियां उठाने वाले अब कहां हैं: अखिलेश

69

लखनऊ: प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि जो लोग सपा सरकार के समय कानून-व्यवस्था पर उंगली उठाते थे, उन्हें प्रदेश में अपराधों में तेजी के साथ हो रही बढ़ोत्तरी नहीं दिख रही है। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि नेता जी को जो कहना था, कह दिया वह उस पर क्या टिप्पणी करें। एक निजी समारोह में भाग लेने सांसद पत्नी डिंपल यादव के साथ शहर आये पूर्व मुख्यमंत्री ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि जो लोग सपा सरकार के कार्यकाल में प्रदेश की कानून-व्यवस्था पर उंगलियां उठाते थे, वह अब कहां हैं।




यादव ने कहा कि प्रदेश के कानून-व्यवस्था बदतर होती जा रही है। सहारनपुर में सांसद का अपने समर्थकों के साथ एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी पर हमला और मारपीट करना इसका प्रमाण है। आंकड़े बताते हैं कि प्रदेश की राजधानी लखनऊ में अपराध का ग्राफ पिछले कुछ दिनों में तेजी से बढ़ा है। उन्होंने कहा कि भाजपा और हिंदू युवा वाहिनी के काम करने का तरीका समाज को बांटने वाला है।

केजरीवाल पर उनके ही एक बर्खास्त मंत्री द्वारा दो करोड़ रुपये रिश्वत लिये जाने के आरोप को लेकर किये गये सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि चंदे की बात है तो जनता को यह भी जानना चाहिये कि इस विधानसभा चुनाव में उन्होंने कितना खर्च किया और भाजपा ने कितना खर्च किया। मैं तो हिसाब देने को तैयार हूं। उन्होंने कहा कि केजरीवाल को मीडिया ने ही उठाया और अब वही मीडिया गिरा भी रहा है।

In this article