अस्पताल से भगाये जाने पर गर्भवती ने खुले मैदान में दिया बच्चे को जन्म

244

सीतापुर। यहां के प्राथमिक स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र से मानवीयता को शर्मसार करने का मामला प्रकाश में आया है जहां एक सरकारी सफाई कर्मचारी ने दर्द से कराह रही गर्भवती महिला को धक्के देकर बाहर भगा दिया जिसके बाद मजबूरन गर्भवती महिला का प्रसव खुले मैदान में कराना पड़ा।



दरअसल यह पूरा मामला सीतापुर के लहरपुर स्थित प्राथमिक स्‍वास्‍थ्‍य केन्‍द्र का है जहां मंगलवार की सुबह बहलोलपुर निवासी जाहिदा परवीन के परिजन उन्हें ले कर पहुंचे। परिजनों ने जाहिदा को भर्ती करने का अनुरोध किया लेकिन वहां तैनात स्टाफ ने सफाई का काम पूरा होने तक बाहर ही रुकने को कहा। करीब एक घंटे तक जाहिदा परवीन अस्पताल गेट के बाहर जमीन पर पड़ी प्रसव पीड़ा से तड़पती रही। करीब एक घंटे बाद जाहिदा ने गेट के बाहर ही जमीन पर खुले आसमान की नीचे साथ आई महिला तीमारदारों की मदद से बेटी को जन्म दिया। घटना के समय डॉ. फैसल इमरजेंसी ड्यूटी पर थे।




इस पूरे मामले पर सीएमओ डॉ. हरगोविंद सिंह ने कहा कि अस्पताल के अधीक्षक डॉ. दिनेश त्रिपाठी से रिपोर्ट मांगी गई है। यदि सफाईकर्मी या किसी और की गलती अथवा लापरवाही सामने आती है, तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

In this article