जियो इफ़ेक्ट: एक हुए आइडिया और वोडाफोन

164

नई दिल्ली| रिलायंस जियो के बढ़ते बाजार से निपटने के लिए वोडाफोन इंडिया और आइडिया सेल्युलर ने मर्जर का ऐलान कर दिया है| बताया जा रहा है कि दोनों के बीच पिछले काफी समय से बात चल रही थी जिसपर अब फैसला हुआ है| दोनों कंपनियों में मर्जर की हिस्सेदारी भी तय हो गई है| वोडाफोन के पास 45.1% की हिस्सेदारी रहेगी जबकि बाकी का 54.9% हिस्सा आइडिया के पास रहेगा|




माना जा रहा है कि यह टेलीकॉम इंडस्‍ट्री की सबसे बड़ी डील है| मर्जर के बाद बनने वाली नई कंपनी टेलिकॉम सेक्टर में देश की सबसे बड़ी कंपनी होगी, जिसके करीब 38 करोड़ ग्राहक होंगे|




इससे पहले खबर आई थी कि आइडिया और वोडाफोन का मर्जर होने के बाद देशभर में फैले आइडिया और वोडाफोन से बड़ी संख्या में लोगों की नौकरी जा सकती है| दोनों कंपनियों के मर्जर से जुड़े लोगों का मानना है कि देश में तीन लाख से ज्यादा लोग टेलीकॉम इंडस्ट्री में नौकरी करते हैं लेकिन अगले 18 महीने की मर्जर प्रक्रिया के दौरान टेलीकॉम इंडस्ट्री से 10,000 से 25,000 लोगों की नौकरी पर तलवार लटक रही है|

In this article