सुलखान सिंह, गोरक्षा, आईपीएस अधिकारी, डीजीपी, पुलिस महानिदेशक, उत्तर प्रदेश

गोरक्षा के नाम पर कानून तोड़ने वालों पर होगी सख्त कार्यवाई: सुलखान सिंह

433

लखनऊ| उत्तर प्रदेश के वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी सुलखान सिंह ने शनिवार को प्रदेश के नए पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) का कार्यभार संभालने के साथ ही यह साफ़ कर दिया कि प्रदेश में किसी को भी कानून व्यवस्था अपने हाथ में नहीं लेने दिया जाएगा| प्रदेश में कानून का राज होगा| पुलिसवालों को काम करने की पूरी आजादी दी जाएगी|




सुलखान सिंह ने साफ किया कि गोरक्षा के नाम पर कानून को हाथ में लेने वालों के खिलाफ भी सख्ती के साथ कार्रवाई होगी| सुलखान सिंह ने कहा कि किसी के खिलाफ मारपीट करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करेंगे| उन्होंने साथ ही कहा कि अगर किसी को (गो-तस्करी की) ऐसी खबर मिलती है तो वह पुलिस को सूचना दे| खुद कानून हाथ में ना ले| हम उसके खिलाफ कार्यवाई करेंगे|

गौरतलब है कि प्रदेश सरकार ने पुलिस महकमे में शीर्ष स्तर पर फेरबदल करते हुए शुक्रवार को जावीद अहमद को डीजीपी पद से हटा दिया था| उनके स्थान पर प्रदेश के सबसे वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी सुलखान सिंह को प्रदेश का नया पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) नियुक्त किया| इसके अतिरिक्त आदित्य मिश्रा को अपर पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) के पद पर तैनात किया|




वर्ष 1980 बैच के आईपीएस सुलखान सिंह मौजूदा समय में डीजीपी प्रशिक्षण मुख्यालय के पद पर तैनात थे| उनकी छवि तेज-तर्रार और ईमानदार अधिकारी की रही है| डीजीपी जावीद अहमद को डीजीपी पीएसी के पद पर स्थानांतरित किया गया है| इसके अलावा 10 अन्य वरिष्ठ आईपीएस अफसरों का भी तबादला किया गया है|

In this article