भारतीय वायुसेना के लापता सुखोई विमान का मलबा मिला, दोनों पायलटों की मौत की आशंका

नई दिल्ली| असम के तेजपुर सैन्य पट्टी से उड़ान भरने के थोड़ी ही देर बाद दोनों पायलटों सहित लापता हुए भारतीय वायुसेना का सुखोई-30 विमान का मलबा चीन बॉर्डर के पास से मिल गया है| विमान में दो पायलट सवार थे जिनकी मौत की आशंका जताई जा रही है| विमान का मलबा उसी जगह के पास से मिला है जहां से उसका आखिरी बार संपर्क टूटा था| अभी वहां मौसम बहुत खराब है| साथ ही घना जंगल भी है जिस कारण काफी दिक्कतें आ रही हैं|



बता दें कि लापता विमान ने नियमित प्रशिक्षण के तहत मंगलवार की सुबह 9.30 बजे चीन की सीमा से 172 किलोमीटर दूरी पर स्थित तेजपुर वायुसेना हवाई पट्टी से उड़ान भरी थी| अरुणाचल प्रदेश में चीन की सीमा से सटे डौलासांग इलाके के पास सुबह करीब 11.10 बजे विमान का संपर्क रडार और रेडियो से टूट गया था, जिसके बाद से ही इसके दुर्घटनाग्रस्त होने की आशंका जताई जा रही थी|




सुखोई विमान की खासियतें

दो-इंजन वाले सुखोई-30 एयरक्राफ्ट का निर्माण रूसी की कंपनी सुखोई एविएशन कॉरपोरेशन ने किया है| भारत की रक्षा जरूरतों के लिहाज से सुखोई विमान काफी अहम है| यह सभी मौसमों में उड़ान भर सकता है. हवा से हवा में, हवा से सतह पर मार करने में सक्षम है|

Loading...