आजम खां

योगी आदित्यनाथ को लेकर आजम खां ने दिया बड़ा बयान

146

लखनऊ। योगी आदित्यनाथ ने रविवार को कांशीराम स्मृति उपवन में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ग्रहण किया। उनके साथ केशव मौर्य और दिनेश सिंह ने भी उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली। राज्य के राज्यपाल राम नाईक ने आदित्यनाथ के साथ 47 सदस्यीय मंत्रिमंडल को पद तथा गौपनियता की शपथ दिलाई। इस बीच उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री और समाजवादी पार्टी के महासचिव आजम खान ने बड़ा बयान दिया है।




आजम खान योगी आदित्यनाथ को सीएम बनाए जाने के सवाल पर कहा, लोकतंत्र में फैसलों का सम्मान होना चाहिए। जो पार्टी जीती है ये उसका अपना मामला है कि वो किसे सीएम बनाए। आजम खान ने आगे कहा, लोकतंत्र में जो जीता वही सिकंदर होता है। हिन्दू धर्म में भगवा कपड़ों का एक अलग स्थान है। मेरा इस पर राय देना ठीक नहीं है। इस पर राय ओलेमा कौंसिल दें, अहमद बुखारी दें। इस पर असददुद्दीन ओवैसी राय दें तो ज्यादा बैहतर है। मेरी राय का फिलहाल कोई मतलब नहीं।

आपको बता दें कि योगी आदित्यनाथ ने शपथ लेने के बाद भाजपा का-सबका साथ सबका विकास-का नारा दोहराया और कहा कि प्रदेश सरकार सभी वर्गो के लिए समान रूप से कार्य करेगी। महिलाओं के सशक्तीकरण के लिए हरसंभव प्रयास होगा। किसानों के विकास के लिए योजनाएं लाई जाएंगी। योगी ने कहा कि हमने जनता से जो वादा किया है, उसे हम पूरा करेंगे। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उनकी सरकार लोक कल्याण संकल्प पत्र में किए गए सभी वादों को पूरा करेगी।

मुख्यमंत्री ने पूर्व की सरकारों पर राज्य को विकास की दौड़ में पिछड़ने के लिए जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि राज्य के विकास के लिए उनकी सरकार तुंरत सकारात्मक कदम उठाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में युवाओं को रोजगार देने के लिए बड़े कदम उठाए जाएंगे और गरीब तथा किसान उनकी प्राथमिकता सूची में सबसे ऊपर हैं। राज्य की पूर्ववर्ती सरकारों पर भ्रष्टाचार और परिवारवाद को बढ़ावा देने का आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, “राज्य में बिना भेदभाव के विकास किया जाएगा। उप्र बदहाल कानून-व्यवस्था को जल्द ही ठीक किया जाएगा। महिलाओं की सुरक्षा सशक्तीकरण और सम्मान के लिए कोई कोर कसर बाकी नहीं रखेगी।” मुख्यमंत्री ने साथ ही कहा कि नए विधायकों को ट्रेनिंग भी जाएगी।




उन्होंने कहा कि राज्य सरकार उप्र के पिछड़े और गरीब तबकों के लिए विशेष काम करेगी। उन्होंने कहा, “राज्य सरकार कृषि को बढ़ावा देने के लिए प्रयास करेगी। कृषि, किसान और खेतिहर मजदूर इस सरकार की प्राथमिकता सूची में है। शिक्षा को बढ़ावा देने से लेकर भोजन, आवास, स्वास्थ्य तथा परिवहन हर तरह की सुविधाओं के लिए सरकार काम करेगी।” आदित्यनाथ ने कहा, “राज्य की कानून-व्यवस्था को पूरी तरह चाक-चौबंद किया जाएगा। इसके लिए शासन-प्रशासन को जिम्मेदार बनाया जाएगा। सरकारी नौकरी में नियुक्ति को भ्रष्टाचारमुक्त किया जाएगा। राज्य में उद्योग को बढ़ावा देने के लिए हर प्रयास किया जाएगा।”

In this article