मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का 45वां जन्मदिन कल

444

लखनऊ। यूपी के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सोमवार को अपना 45वां जन्मदिन मनाने वाले हैं। टीम पार्दफाश उन्हें इस अवसर पर शुभकामनाएं देते हुए कामना करती है कि वह एक सफल मुख्यमंत्री साबित हों और उनके नेतृत्व में प्रदेश विकास के नए आयामों को छूने में सफल हो।




आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 26 मार्च 2017 को यूपी के मुख्यमंत्री बने योगी आदित्यनाथ का जन्म 5 जून 1972 को उत्तराखंड के पौढ़ी गढ़वाल स्थित पंचूर में हुआ था। उनका वास्तविक नाम अजय मोहन विष्ट है। पिता आनन्द सिंह विष्ट वन विभाग में रेंजर के पद पर कार्यरत थे। अपने चार भाई और तीन बहनों में अपने पिता की दूसरी सन्तान के रूप में जन्मे योगी ने बीएससी तक पढ़ाई की है।

1990 में राममन्दिर आन्दोलन से जुड़ने के लिए अपने घर से निकले थे। इसी दौरान आन्दोलन के अगुआकारों में रहे गोरखपुर स्थित गोरक्ष पीठ के महन्त स्वर्गीय अवैधानंद के सानिध्य में आकर सन्यासी हो गए। अवैधानन्द ने आदित्यनाथ को अपना शिष्य बनाते हुए उन्हें योगी की उपाधि देते हुए आदित्यनाथ नाम दिया और अपना राजनीतिक और आध्यात्मिक उत्तराधिकारी घोषित कर दिया। यहीं से योगी आदित्यनाथ ने सियासी जीवन में कदम रखा। गोरखपुर से सांसद रहे अवैधानन्द के उत्तराधिकारी के रूप में 1999 में उन्होंने गोरखपुर से बतौर सांसद चुनाव जीता और लगातार पांच बार लोकसभा सांसद बने। वर्तमान में भी वह यूपी के मुख्यमंत्री होने के साथ—साथ लोकसभा सांसद भी हैं।




हिन्दुत्ववादी विचारधारा से प्रभावित राजनीति के अगुआकार योगी आदित्यनाथ की पहचान एक फायरब्रांड नेता की है। उनकी गिनती भारतीय जनता पार्टी के स्टार प्रचारकों में रही है। पूर्वी उत्तर प्रदेश के 5—6 जिलों में मजबूत पकड़ रखने वाले योगी अदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद उनकी लोकप्रियता तेजी से बढ़ी है। अब उन्हें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के उत्तराधिकारी यानी भाजपा की ओर से प्रधानमंत्री पद के भावी दावेदार के रूप में देखा जा रहा है।

अब देखना ये होगा कि बतौर मुख्यमंत्री योगी स्वयं को कितना साबित कर पाते हैं, क्योंकि जिस मुख्यमंत्री का जो ताज उनके सिर सजा है वह अभी तक कांटों भरा नजर आ रहा है। उनके जन्मदिन पर हम एकबार फिर कामना करते हैं कि वह एक सफल मुख्यमंत्री साबित हों और उन तमाम दावों को पूरा कर पाएं जो बतौर मुख्यमंत्री शपथ लेने के बाद उन्होंने प्रदेश की जनता से किए थे।

In this article