अधिकारियों की सहमति से नेपाल भेजे गए गैस-पेट्रोल के ट्रक

महाराजगंज: अंतर्राष्ट्रीय सीमा सोनौली बॉर्डर पर स्थित पुलिस चौकी में भारत-नेपाल अधिकारियों के बीच बुधवार को एक आवश्यक बैठक का आयोजन किया गया, जिसमे पेट्रोल, गैस की गाड़ी भेजने की बात पर सहमति बनी।

 
बुधवार दोपहर सोनौली पुलिस चौकी में भारत और नेपाल की एक आवश्यक बैठक में नेपाल में पेट्रोल-गैस की समस्याओ को अवगत करते हुये नेपाली अधिकारियों ने भारतीय अधिकारियों से गैस, पैट्रोल भेजने का आग्रह किया। नेपाली अधिकारियों के आग्रह के बाद भारत ने गैस-पेट्रोल की गाडियाँ नेपाल में भेजना शुरू कर दिया है। एक अधिकारी ने बताया कि 25 मालवाहक ट्रको के साथ 4 गैस और पेट्रोल की भी गाड़ी भेजी जायेगी।

 

बैठक में एसएसबी के सेनानायक के यस बनकोटि , उपजिलाधिकारी विक्रम सिंह, क्षेत्राधिकारी फरेन्दा टीएन पान्डेय, सोनौली कोतवाल अनिल कुमार, नौतनवा थानाध्यक्ष रामायण यादव, सोनौली चौकी प्रभारी भरत यादव, नेपाल के भन्सार चीफ लावण्या ढकाल, सशस्त्र के एस खनाल, टीआर पान्डेय बेलहिया इन्स्पेक्टर रविन्द्र बाबू रेग्मी सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे ।

आपको बता दे मंगलवार को सोनौली नो मैसलैण्ड पर नेपाली मधेशी नेताओ व कार्यकर्ताओं को प्रदर्शन के दौरान पहाड़ी मूल के लोगो ने भारत मुर्दाबाद-मधेशी मुर्दाबाद के नारे लगाये और ईट पत्थर से मारे थे। जिसमे चार मधेशी कार्यकर्ता घायल हुये थे। इसके बाद से सोनौली कस्बे के लोगों ने भारत विरोधी नारे को सुनकर उग्र हो गए थे जो नेपाल में जाने वाली गैस पैट्रोल की सभी ट्रको को रोकने लगे थे जिनका अब बैठक के बाद जाना शुरू हो गया।
       

 

नेपाल बार्डर से  विजय चौरसिया की एक रिपोर्ट