अब जम्मू एवं कश्मीर के निर्दलीय विधायक राशिद पर फेंकी गई स्याही

श्रीनगर। पहले जहां जम्मू एवं कश्मीर विधानसभा में बीफ पार्टी देने की वजह से निर्दलीय विधायक शेख अब्दुल राशिद को भाजपा विधायकों के हिंसक रोष का सामना करना पड़ा था। वहीं अब उन्हे दिल्ली में एक बार फिर लोगों की गुस्सा का भागीदार होना पड़ा है। हालांकि इस बार उनकी पिटाई तो नहीं हुई लेकिन उनके विरोधियों ने उन्हे काली स्याही से जरूर रंग दिया। जी हाँ, दिल्ली में राशिद के ऊपर कुछ लोगों ने अपना विरोध जताते हुए काली स्याही फेंकी।

स्याही फेंकने की इस घटना को अंजाम उस वक्त दिया गया जब वह दिल्ली में स्थित प्रेस क्लब में आयोजित एक प्रेस वार्ता को संबोधित कर रहे थे। तभी कुछ लोग आए और राशिद के ऊपर बाल्टी से स्याही फेंक दी जिससे राशिद का पूरा चेहरा काला पड़ गया। स्याही फेंकने वाले दो युवकों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है और पूछताछ कर रही है। ये लोग हिन्दू महासभा के कार्यकर्ता बताए जा रहे हैं।

स्याही फेंके जाने के बाद राशिद ने कहा कि हिंदुस्तान कश्मीरियों के साथ क्या करता है, ये दुनिया को पता चलना चाहिए। आज का हिंदुस्तान मोदी का हिंदुस्तान है, गांधी का हिंदुस्तान नहीं है। राशिद ने कहा कि आप कहते हैं कि पाकिस्तान में तालिबानीकरण है, आज देखिए हिंदुस्तान में क्या हो रहा है। सूत्रों के मुताबिक, स्याही फेंकने वाले हिंदू सेना के कार्यकर्ता बताए जा रहे हैं।

मालूम हो कि  जम्मू एवं कश्मीर विधानसभा में कई भाजपा विधायकों ने शेख अब्दुल राशिद को गौमांस की पार्टी देने की वजह से पीटना शुरू कर दिया था। हालांकि पिटाई शुरू होने के तुरंत बाद नेशनल कांफ्रेंस और कांग्रेस के कई विधायक उन्हें बचाने के लिए दौड़े और उन्होने विधायक को छुड़ा लिया।