अब महिला पायलट भी उड़ाएंगी फाइटर प्लेन

नई दिल्ली| एयर चीफ मार्शल अरूप राहा ने कहा है कि जल्द ही भारतीय वायुसेना में महिलाओं को लड़ाकू पायलटों के रूप में नियुक्त किया जाएगा। वायुसेना के 83वें स्थापना दिवस परेड समारोह में राहा ने कहा कि हमारे देश में महिलाएं परिवहन विमान और हेलीकॉप्टर उड़ा रही हैं। लेकिन अब हम युवा महिलाओं की आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए उन्हें लड़ाकू विमानों को उड़ाने देने की योजना बना रहे हैं।

उन्होंने कहा कि जहां तक नेवी की बात है तो वहां महिलाएं वॉरशिप्स पर नहीं जा सकतीं। आर्मी में भी वे लड़ाकू दस्तों में नहीं जा सकतीं। लेकिन वक्त बदल रहा है। फिजिकल टफनेस बढ़ाने में तकनीक भी मदद कर रही है। हमारी एयरफोर्स में कई महिलाओं ने हेलिकॉप्टर्स और ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट उड़ाकर अपना जज्बा और हिम्मत दिखाई है। कुछ महिला पायलट्स ने तो लद्दाख के दौलत बेग ओल्डी से एएन-32 एयरक्राफ्ट जैसा बड़ा एयरक्राफ्ट भी उड़ाया है।

अगर ऐसा हुआ तो एयरफोर्स पहली ऐसी सेना होगी जिसके कॉम्बैट मिशन में वुमन पायलट्स नजर आएंगी। एयरफोर्स के फैसले के बाद आर्मी और नेवी भी इस तरह का कदम उठा सकती है। वायु सेना स्थापना दिवस परेड समारोह का आयोजन हिंडन स्थित वायु सेना के अड्डे पर किया गया था। अधिकारियों के मुताबिक, भारतीय वायु सेना में लगभग 300 महिला पायलट हैं।

Loading...