इंद्राणी की सेहत में सुधार, रिपोर्ट्स में सामने नहीं आई ओवरडोज़ की बात

मुंबई। जेल में दवाइयों का अधिक सेवन कर लेने की वजह से बीते शुक्रवार को अस्पताल में भर्ती की गई शीना बोरा हत्याकांड मामले की मुख्य आरोपी इंद्राणी मुखर्जी हालत में सुधार हो रहा है। यह जानकारी शनिवार को उनका इलाज कर रहे डॉक्टरों ने दी है। डॉक्टर्स ने बताया है कि इंद्राणी की शारीरिक जांच में दवाइयों के ओवरडोज़ होने की भी कोई बात सामने नहीं आई है। उन्होने बताया कि अब इंद्राणी के सेहत में भी सुधार हो रहा है।

अस्पताल के डीन टीपी लहाणे ने शनिवार को बताया कि इंद्राणी की हालत में सुधार हो रहा है और अभी वह अर्धचेतन अवस्था में हैं। उन्हें पूरी तरह से ठीक होने में कम से कम तीन दिन लगेंगे। उन्होने बताया कि वह आवाजों को सुनकर उस पर प्रतिक्रिया दे रही हैं। उन्होंने पीने के लिए एक बार पानी भी मांगा, लेकिन अभी वह अर्धचेतन अवस्था में हैं। उन्हें सांस लेने में तकलीफ हो रही है, इसलिए उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया है। हम उनकी सही स्थिति का पता लगाने के लिए उनके मूत्र की जांच रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं।

इंद्राणी को शुक्रवार दोपहर लगभग दो बजे सांस लेने में तकलीफ और बेचैनी की शिकायत के बाद सर जेजे अस्पताल में भर्ती कराया गया था। लहाणे ने कहा कि शुक्रवार देर रात उनकी हालत गंभीर थी। उनकी कई जांच की गई। उन्होंने कहा कि हमें लगता है कि उन्होंने कुछ गोलियां खा ली हैं इसलिए हम उसी आधार पर उनका इलाज कर रहे थे। लेकिन शनिवार को आई रिपोर्ट्स में ऐसी कोई बात सामने नहीं आई है कि अत्यधिक दवाई खाने की वजह से उनकी ऐसी स्थिति हुई है।

इंद्राणी को अपनी बेटी शीना बोरा की हत्या के मामले में 25 अगस्त को गिरफ्तार किया गया था। शीना बोरा की हत्या अप्रैल 2012 में हुई थी। शीना उनकी पूर्व शादी से हुई बेटी थी। इस मामले में इंद्राणी के पूर्व पति संजीव खन्ना और उनके पूर्व चालक श्यामवर राय को भी गिरफ्तार किया गया है। वे सात सितंबर से न्यायिक हिरासत में हैं। मामले की जांच पहले मुंबई पुलिस कर रही थी, लेकिन बाद में महाराष्ट्र सरकार ने इसे केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को सौंप दिया।