इस गेंदबाज से डरते थे सहवाग

%e0%a4%87%e0%a4%b8 %e0%a4%97%e0%a5%87%e0%a4%82%e0%a4%a6%e0%a4%ac%e0%a4%be%e0%a4%9c %e0%a4%b8%e0%a5%87 %e0%a4%a1%e0%a4%b0%e0%a4%a4%e0%a5%87 %e0%a4%a5%e0%a5%87 %e0%a4%b8%e0%a4%b9%e0%a4%b5%e0%a4%be

नई दिल्ली। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहने वाले टीम इंडिया के धाकड़ बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने अपने टि्वटर हैंडल पर 2 पेज का एक पत्र पोस्ट किया। जिसमें उन्‍होंने अपने दिल की बात कही और सभी का शुक्रिया अदा किया।

उन्‍होंने सचिन तेंदुलकर, सुनील गावस्‍कर और कपिल देव को अपना आदर्श बताते हुए सौरव गांगुली का भी शुक्रिया अदा किया। सौरव गांगुली की कप्तानी में टेस्ट करियर की शुरुआत करने वाले वीरेंद्र सहवाग ने कप्तान गांगुली की जमकर तारीफ की। उन्होंने लिखा, “मैं पूर्व कप्तान गांगुली का शुक्रिया अदा करना चाहूंगा जिन्होंने मुझपर विश्वास जताया और मुझे दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 2001 में टेस्ट में पदार्पण का मौका दिया। ‘दादा’ ने मेरे लिए ओपनिंग स्लॉट का त्याग किया। उन्होंने मेरे अंदर विश्वास जताया। इसलिए धन्यवाद सौरव दा। मैं आपका आभारी हूं। आपने मुझ में एक टेस्ट खिलाड़ी की छवि देखी। यदि मैं टेस्ट नहीं खेलता तो मैं इतने सारे रन नहीं बना पाता।”

उन्होने लिखा “मैंने कुछ मैच बेहतरीन गेंदबाजों के खिलाफ खेले हैं उनमें वसीम अकरम, वकार यूनुस, शोएब अख्तर, मुथैया मुरलीधरन, ग्लेन मैक्ग्रा आदि हैं जिनके खिलाफ मैंने काफी रन बनाए हैं इनको टीम और मीडिया में आदर के साथ देखा जाता है। मुझे केवल एक गेंदबाज मुरलीधरन का सामना करने से बहुत डर लगता था।”

नई दिल्ली। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहने वाले टीम इंडिया के धाकड़ बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने अपने टि्वटर हैंडल पर 2 पेज का एक पत्र पोस्ट किया। जिसमें उन्‍होंने अपने दिल की बात कही और सभी का शुक्रिया अदा किया।उन्‍होंने सचिन तेंदुलकर, सुनील गावस्‍कर और कपिल देव को अपना आदर्श बताते हुए सौरव गांगुली का भी शुक्रिया अदा किया। सौरव गांगुली की कप्तानी में टेस्ट करियर की शुरुआत करने वाले वीरेंद्र सहवाग ने कप्तान गांगुली की जमकर तारीफ की। उन्होंने…