एमसीडी चुनाव में कांग्रेस ने उतारे 16 मुस्लिम उम्मीदवार

नई दिल्ली: कांग्रेस ने 272 नगर निगम सीटों में 16 मुसलमानों को टिकट देकर पूरे समुदाय को फिर से जीतने की कोशिश की है। कांग्रेस पूर्व विधायकों का मानना है कि नगर निगम चुनाव में कांग्रेस वापसी को लेकर आास्त है तथा 16 मुसलमान व दो सौ से ज्यादा युवा उम्मीदवार पार्टी को बढत दिलाने में कामयाब होेंगे।




पूर्व कांग्रेस विधायक मतीन अहमद ने कहा कि कांग्रेस ने 16 मुसलमान चेहरों को मैदान में उतारा है जिससे पार्टी का जनाधार तीनों निगमों में वापस आएगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को पांच और मुसलमानों को उम्मीदवार बनाना चाहिए था। अभी कांग्रेस वापसी के लिए लड़ाई लड़ रही है लेकिन प्रतिद्वंद्वी खेमे में उत्साह की कमी है। कांग्रेस ने पांच वर्तमान पार्षदों को फिर निगम चुनाव में टिकट दिया है जिसमें जाकिर नगर से शोएब दानिश, बाजार सीताराम से सीमा ताहिरा, दिल्ली गेट से आले मोहम्मद इकबाल, नेहरू विहार से ताज मोहम्मद व मुस्तफाबाद से परवीन शामिल हैं।

साथ ही ग्यारह नए चेहरों को शामिल किया गया है जिसमें सदर बाजार से मोहम्मद उस्मान, अबुल फजल इनक्लेव से परवेज आलम, दरियागंज ने यासमीन किदवई, बल्लीमारान से मोहम्मद कजाफी, जामा मस्जिद से सुल्ताना, श्रीराम कालोनी से शमशीरा, कुरैश नगर से नेहा फातिमा, सीलमपुर से शायराबानो, चौहान नगर से मोहम्मद जावेद बर्की, कर्दमपुरी से मोहम्मद फुरकान कुरैशी व खजूरी खास से अब्दुल कयूम शामिल हैं। ये सभी 16 उम्मीदवार कांग्रेस को मुस्लिम मतदाताओं के बीच स्थापित करेंगे।




ध्यान रहे कि 2013 के विधान सभा चुनाव में मुसलमान मतदाता आम आदमी पार्टी के पक्ष में वोट कर रहे थे व कांग्रेस का वोट प्रतिशत घटकर 8 प्रतिशत तक आ गया था लेकिन 13 वार्ड के निगम उपचुनाव में कांग्रेस को पांच सीटें मिली व 30 प्रतिशत वोट मिला। यही कारण है कि कांग्रेस ने 16 मुसलमान चेहरों को मैदान में उतारा है।