कन्नौज में मूर्तिविसर्जन के दौरान भड़की सांप्रदायिक हिंसा में एक मरा, सपा नेता समेंत नौ अल्पसंख्यक नामजद

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के दादरी में गौमांस की अफवाह के बाद मारे गए अखलाक की मौत का मामला अभी ठंड़ा भी नहीं पड़ा था कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव के संसदीय क्षेत्र कन्नौज में गुरूवार अल्पसंख्यक समुदाय के कुछ लोगों ने मूर्तिविसर्जन में उड़ाए गुलाल के पड़ने पर दो लोगों को गोली मार दी। जिसमें एक की मौत हो गई जबकि दूसरे को गंभीर हालत में इलाज के लिए कानपुर के एक अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। पुलिस ने इस घटना के बाद सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी के एक स्थानीय नेता समेंत नौ लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

मिली जानकारी के मुताबिक कन्नौज शहर के मकरंदनगर में गुरूवार को दुर्गा मूर्तिविसर्जन के लिए यात्रा निकाली जा रही थी। विसर्जनयात्रा के दौरान पारंपरिक तरीके से गुलाल उड़ाया जा रहा था, जोकि राह चल रहे एक अल्पसंख्यक समुदाय के युवक के ऊपर भी गिर गया। युवक ने आरोप लगाया कि शोभाया़त्रा में शामिल कुछ युवकों ने जानबूझ कर उसके ऊपर गुलाल डाला है। मामला तूल पकड़ता देख दोनों समुदाय के स्थानीय बुजुर्गों ने मामले को शान्त करवा दिया।

जिसके बाद शोभा यात्रा आगे बढ़ गई। कुछ दूरी के बाद एक धार्मिक स्थल के सामने शोभायात्रा पर पथराव किया गया और समुदाय विशेष के कुछ लोगों का एक समूह शोभायात्रा में शामिल लोगों से मार पीट करने लगे। जिसकी खबर फैलने के बाद दोनों पक्षों के लोग जुड़ने लगे। इस बीच मची अफरा तफरी में अल्पसंख्यक समुदाय के कुछ लोगों ने फायरिग कर दी। जिसमें 35 वर्षीय महेश कुशवाह और 28 वर्षीय अपूर्व गुप्ता फायरिंग का शिकार हो गए।

लोगों ने पुलिस की मदद से अनन फानन में दोनों को जिला अस्पताल पहुंचाया लेकिन महेश कुशवाहा ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया था। अपूर्व गुप्ता को प्राथमिक उपचार के बाद कानपुर मेडिकल कालेज रिफर कर दिया गया।
वहीं इस घटना की खबर पूरे शहर में आग की तरह फैल गई। पूरे शहर में सांप्रदायिक तनाव का माहौल बन गया। मूर्तिविसर्जन यात्रा निकालने वाली समिति ने मूर्तियों को सड़क पर रख कर जाम लगा दिया। जिला प्रशासन की कड़ी मशक्कत के बाद जाम खुलवाया जा सका।

बताया जा रहा है कि सांसद डिंपल यादव के प्रतिनिधि नवाब सिंह यादव ने मुख्यमंत्री की ओर से मृतक के परिवार को 10 लाख की आर्थिक मदद देने का आश्वासन दिया है। पुलिस ने मृतक महेश के परिजनों की निशानदेही पर समाजवादी पार्टी के जिला कोषाध्यक्ष कैश खां समेंत नौ लोगों के खिलाफ हत्या व अन्य गंभीर धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है।