केजरीवाल का ट्वीट- उपराज्यपाल बुरे राजनीतिक आकाओं से घिरे हुए एक अच्छे इंसान

अरविन्द केजरीवाल, आप सरकार
क्या सरकार और कुर्सी बचा पाएंगे मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल

नई दिल्ली। दिल्ली में शनिवार को उस वक्त ‘उल्टी गंगा बहती’ नजर आई जब सूबे के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट ट्विटर पर अपने विरोधी उपराज्यपाल नजीब जंग के पक्ष में ट्वीट करते नजर आए। उनका यह ट्वीट उस समय आया जब भाजपा सांसद उदित राज ने कांग्रेस के स्वर से स्वर मिलाते हुए उपराज्यपाल को हटाने की आवाज बुलंद की है। केजरीवाल ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि उपराज्यपाल बुरे राजनीतिक आकाओं से घिरा हुआ एक अच्छा इंसान बताया है।

मुख्यमंत्री ने अपने ट्वीट में लिखा है कि भाजपा और कांग्रेस दोनों ही नजीब जंग को हटाने की मांग कर रहे हैं। थोड़ा अजीब बात है, क्या गलती उनकी है? नहीं। नजीब तो सिर्फ वही कर रहे हैं जो पीएमओ उन्हें करने के लिए कहता है। एक और ट्वीट केजरीवाल लिखते हैं कि नजीब जंग को हटाने से कुछ हासिल नहीं होगा। अगर पीएमओ इसी तरह हस्तक्षेप करता रहेगा तो अगले उप राज्यपाल भी यही करेंगे। इसका समाधान यही है कि पीएमओ को दिल्ली के काम में हस्तक्षेप करना बंद करना होगा।

{ यह भी पढ़ें:- कांग्रेस ने पीएम मोदी पर फिर फोड़ा वीडियो बम, बताया U Turn Sarkar }

मालूम हो कि बीते शुक्रवार को उदित राज ने नजीब जंग को हटाने की मांग की थी। उन्होने नजीब को सुपर किंग की संज्ञा से परिभाषित करते हुए निर्वाचित प्रतिनिधि के नजरिये पर ध्यान नहीं देने का आरोप लगाया था। उन्होने कहा था कि उदित राज ने कहा ‘उपराज्यपाल ‘सुपर किंग’ की तरह व्यवहार कर रहे हैं। उन्हें हटाया जाना चाहिए। मैं उनके खिलाफ केंद्र को लिखूंगा। उन्होंने कहा कि ‘गंभीर’ सार्वजनिक मामलों पर चर्चा के लिए जंग से बात करने के लिए उन्हें तीन चार दिन इंतजार करना पड़ा।

उदित राज ने यह टिप्पणी उस वक्त की थी जब एक आईएएस अधिकारी पर कथित हमले के आरोप में गुरुवार को उनके तीन समर्थकों को गिरफ्तार किया गया था।

{ यह भी पढ़ें:- केजरीवाल पर कुमार का शायराना तंज़- 'मेरे लहजे में जी-हुजूर न था, इससे ज्यादा मेरा कसूर न था।' }

हालांकि भाजपा सांसद ने यह कहा था कि वह अलग मुद्दा है। सांसद ने आरोप लगाया था कि जंग और अन्य अधिकारी सांसदों की नहीं सुन रहे हैं। उन्होंने कहा, दिल्ली में केवल सात सांसद हैं। अगर वह हमसे बात नहीं करेंगे तो वह किससे बात करेंगे? इसके पहले कांग्रेस भी उपराज्यपाल को हटाने की मांग कर चुकी है।

Loading...