गौमांस पकाने का आरोप लगाकर अखलाक को उतार दिया मौत के घाट

गौमांस पकाने का आरोप लगाकर अखलाक को उतार दिया मौत के घाट

गौतमबुद्ध नगर। उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा में स्थित बिसाड़ा गाँव में सोमवार रात को भीड़ ने गौमांस पकाने के आरोप लगाकर अखलाक नामक एक शक्स को मौत के घाट उतार दिया। भीड़ ने न सिर्फ अखलाक की हत्या की बल्कि उसके पूरे परिवार को मारा पीटा जिससे अखलाक का बेटा बुरी तरह से घायल गया है। उसे इलाज के लिए सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हालांकि प्राथमिक जांच में यह स्पष्ट हो गया है कि अखलाक व उसके परिवार पर हुआ हमला किसी निजी रंजिश से चलते किया गया था। अब अखलाक की बूढ़ी माँ न्याय की आस में नजरें बिछाये बैठी है।

मिली जानकारी के अनुसार, बीते सोमवार रात बिसाड़ा गाँव में स्थित मंदिर के लाउड स्पीकर से कुछ असामाजिक लोगों ने ऐलान किया कि अखलाक (52) के घर में गौमांस पकाया गया है जिसके बाद लगभग 50 लोगों की भीड़ ने इकठ्ठा होकर अखलाक के घर पर हमला कर दिया। उन्होने न सिर्फ अखलाक घर में तोडफोड की बल्कि अखलाक व उसके परिवार की बुरी तरह से पिटाई भी कर दी। इस घटना में अखलाक ने मौके पर ही गम तोड़ दिया जबकि उसका बेटा गंभीर रूप से घायल हो गया, बेटे को इलाज के लिए सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस घटना के बाद से अखलाक के घर वालों में भारी दहशत देखने को मिल रही है।

{ यह भी पढ़ें:- दर्दनाक हादसा: बारातियो से भरी कार ट्रेन से टकराई, चार की मौत, कई घायल }

बताया जा रहा है कि इस घटना के बाद क्षेत्र में पहले तो सांप्रदायिक हिंसा भड़की लेकिन समय रहते ही पुलिस ने तुरंत कार्रवाई करते हुए इस हिंसा को बड़ा रूप लेने से रोक लिया। अब क्षेत्र की स्थिति काबू में है। उधर पीड़ित के घर वालों का कहना है कि असामाजिक तत्वों ने झूठा आरोप लगाया है। उनके यहाँ गौमांस  नहीं पकाया गया था। पुलिस ने जब मामले की जांच शुरू की तो उन्हे पता चला है कि अखलाक के घरवालों में वाकई सच्चाई है। इलाके में अशांति फैलाने के लिए कुछ लोगों ने झूठी अफवाह फैलाई थी। पुलिस ने मामले की जांच करते हुए छह लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। शेष की तलाश जारी है।

आपको बता दें कि अखलाक के परिवार की गिनती क्षेत्र के शिक्षित परिवारों में की जाती है। अखलाक का बेटा सिविल सेवा की तैयारी कर रहा है। अखलाख का भाई एयरफोर्स में है, जबकि एक भाई जापानी कंपनी में अच्छी खासी पोस्ट पर है। पीड़ित परिवार ने गाय काटने या गोमांस पकाने के आरोपों को झूठा बताया है। इस घटना के बाद से सभी सदस्य में काफी दहशत देखने को मिल रही है। सभी लोगों में डर भर गया है कि कहीं फिर से भीड़ हमला न कर दे। अखलाक की मौत के बाद पूरे इलाके में तनावभरी खामोशी है।

{ यह भी पढ़ें:- ग्रेटर नोएडा में भाजपा नेता की दिन दहाड़े गोलियों से भूनकर हत्या }

अखलाक को खाक-ए-सुपुर्द कर दिया गया है। बताया जा रहा था कि जब अखलाक का जनाजा जा रहा था तो भारी पुलिसबल मौके पर मौजूद थी। उन्हे शक था कि कहीं भीड़ जनाजे में उपस्थित लोगों पर हमला न बोल दे। गौतमबुद्ध नगर जिलाधिकारी एन पी सिंह का कहना है कि जिस गांव में हिंदू और मुस्लिम आपस में मिल जुलकर रहते थे, उस गांव को भी असामाजिक तत्वों ने नहीं बख्शा है।

Loading...