गौ तस्करी का कथित आरोप लगाकर भीड़ ने पाँच लोगों को जमकर पीटा, एक की मौत

शिमला। उत्तर प्रदेश के दादरी और मैनपुरी के बाद अब हिमाचल प्रदेश में एक व्यक्ति को कथित तौर पर गौहत्या के शक की वजह से भीड़ के कोप का भागीदार बनना पड़ा है। भीड़ ने इस व्यक्ति को गौ तस्करी करने के शक में पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया। यह घटना हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला का है। बताया जा रहा है कि इस व्यक्ति के साथ चार अन्य लोग भी मौजूद थे जिनकी भी भीड़ ने पिटाई की। हालांकि इन चारों ने मौकाए-वारदात से भागकर अपनी जान बचाई। पुलिस ने मामला दर्ज करते हुए घायलों को सरकारी अस्पताल में भर्ती करा दिया है।

मिली जानकारी के अनुसार, बीते बुधवार को कुछ हिन्दू संगठन (बजरंग दल के गो रक्षा दल) के सदस्यों ने गाय की तस्करी के शक में एक ट्रक को रोका जिसमें गाय और बैल काफी क्षीण हालत में पाए गए। इस अवैध तस्करी के मामले में इन लोगों ने ट्रक के ड्राइवर और उसमें सवार चार अन्य लोगों को खदेड़ कर मारना शुरू कर दिया। खुद को पिटाई से बचाते हुए चार लोग तो वहाँ से भाग निकले लेकिन ट्रक का ड्राईवर भीड़ की चंगुल में बुरी तरह से फंस गया जिसकी पिटाई की वजह से मौत हो गई। सूत्रों की माने तो, यह ट्रक बूचड़खाने की ओर जा रहा था।

बताया जा रहा है कि यह पांचों पीड़ित अल्प-संख्यक समुदाय के हैं और उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले के निवासी है। पुलिस ने अनुसार, घटना स्थल से भाग निकले चारों लोग घायल अवस्था में दोपहर को मिले जिन्हे इलाज के लिए सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है वहीं ट्रक ड्राईवर नोमान उसी दिन शाम को घायल अवस्था में मिला था। उसे इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया लेकिन उसने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और जांच में जुट गई है। पुलिस इस बात की भी जांच कर रही है कि कहीं इस मामले में बजरंग दल की भूमिका तो नहीं। इसके साथ ही पुलिस ने चारों घायल लोगों पर गाय तस्करी का केस भी दर्ज कर लिया गया है। फिलहाल, आधिकारिक रूप से कोई गिरफ्तारी नहीं की गई है।

आपको बता दें कि इसके पहले बीते 29 सितंबर को उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर में हुए दादरी कांड में मो.अखलाक नाम के एक 50 वर्षीय बुजुर्ग को भीड़ ने गौमांस पकाने की अफ़वाह के चलते पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया था। इसके कुछ ही दिनों बाद ऐसी ही एक घटना सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव के पौत्र तेज प्रताप सिंह के संसदीय क्षेत्र मैनपुरी में भी घटी थी जहां भीड़ ने दो युवकों पर गौहत्या के करने का आरोप लगाते बुरी तरह से पिटाई कर दी थी। इन दोनों मामलों के ब्नाद राजनीतिक गलियारों में भी इस मुद्दे को लेकर जमकर टीका-टिप्पणी हो रही है और तरह तरह के बयान सामने आ रहे हैं।