छेड़खानी से तंग आकर छात्रा ने छोड़ा स्कूल, खत लिख पीएम मोदी को सुनाई आपबीती

मुजफ्फरपुर। यहां एक 7 वर्षीय छात्रा ने छेड़खानी से तंग आकर पीएम मोदी को खत लिख मदद की गुहार लगाई है। छात्रा ने लिखा है कि जब वह स्कूल जाती है तो एक युवक उसे परेशान किया करता है, जिस वजह से उसने स्कूल जाना बंद कर दिया है। पुलिस में शिकायत के बावजूद कोई कार्यवाई नहीं हो रही है।

मुजफ्फरनगर की शहर कोतवाली क्षेत्र के सुजडू गांव की रहने वाली साजिया (बदला नाम) 7वीं क्लास की छात्रा है। साजिया ने बताया- पिछले एक साल से पड़ोस में रहने वाला अब्दुला नाम का लड़का मेरे साथ छेड़छाड़ कर रहा है। 10 अगस्त को स्कूल से लौटते समय उसने मेरा हाथ पकड़ लिया और बोला कि मेरे साथ चलो। जब मैंने उसका विरोध किया तो अब्दुला ने मेरे चेहरे पर तेजाब फेंकने और घरवालों को जान से मारने की धमकी दी। इसके बाद एक दिन उसने घर में घुसकर मेरे साथ मारपीट की। उसके डर से मैंने स्कूल जाना बंद कर दिया। मुझे अब घर से निकलने पर भी डर लगता है। पुलिस से श‍िकायत भी की, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। उलटा पुलिस हमारे घर पर ही आकर धमकाती है।

{ यह भी पढ़ें:- पटना यूनिवर्सिटी में पीएम मोदी ने दिया दिवाली का तोहफा, 20 यूनिवर्सिटी को दिया 10 हजार करोड़ का फंड }

पीएम को लेटर में क्या लिखा…
एक लड़का मेरे साथ छेड़छाड़ करता है। इसके डर से मैंने स्कूल जाना बंद कर दिया। उसके खिलाफ केस दर्ज कराया तो वो मेरे घर पहुंच गया और मारपीट की। मेरे पापा से बोला केस वापस ले लो, पुलिस कुछ नहीं कर सकती। पुलिस वाले भी कहते हैं कि फैसला कर लो। नेताओं के भी फोन आते हैं। अगर मेरे मम्मी-पापा को कुछ हो गया तो मैं जिंदा नहीं रह पाऊंगी। प्रधानमंत्री जी, मुजफ्फरनगर पुलिस से कह दो, उनकी बच्ची भी स्कूल जाती होगी, उसके साथ ऐसा होता तो क्या वो बर्दाश्त करते। मैं दोबरा से बिना डर से स्कूल जाना शुरू कर दूं और आरोपी को सजा मिल जाए, मैं बस यही चाहती हूं।

{ यह भी पढ़ें:- BHU विवाद: मनचलों ने छात्रा के कुर्ते में हाथ डाला, जींस में हाथ डालने की कोशिश }