तंत्रमंत्र के चक्कर में मां की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या

लखनऊ: इक्कीसवीं सदी में आज जब भारत विज्ञान के क्षेत्र में इतनी तरक्की कर चुका है कि वह दुनिया के विकसित देशों से मुक़ाबला कर रहा है, वहीं दूसरी ओर यहां ऐसे लोगों की भी कमी नहीं है, जो अंधविश्‍वास में बुरी तरह जक़डे हुए हैं| ताजा मामला उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से है जहां एक कलयुगी बेटे ने तंत्रमंत्र के चक्कर में अपनी मां की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या कर दी। बेटे को शक था कि माता पिता ने उसके ऊपर टोना-टोटका करवा दिया है| सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने खून से लथपथ शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। साथ ही पुलिस हत्या का मुकदमा दर्ज कर आरोपी को जेल भेज दिया है।

गोसाईगंज थानाक्षेत्र के दुनियापतिखेड़ा गांव में रहने वाले सुंदरलाल अपनी पत्नी फूलमती(55) और पांच बेटों के साथ रहते हैं। बताया जाता है कि तीसरे नंबर के बेटे बसंतलाल को अपनी मां पर तंत्र-मंत्र कराने का शक था। इसके चलते उसने शुक्रवार की देर रात अचानक ही घर में मौजूद सदस्यों की पिटाई करनी शुरू कर दी। पिटाई के दौरान मची चीख पुकार को सुनकर फूलमती भी अपने कमरे से बाहर आ गईं। उसने बसंत को समझाने की कोशिश की, जिस पर बसंत ने गाली-गलौच करते हुए उन पर जादू टोना करने का आरोप लगाते हुए कुल्हाड़ी से ताबड़तोड़ कई वार कर दिए।

इस हमले में खून से लथपथ फूलमती जमीन पर ढेर हो गई। जिस वक्त यह घटना हुई फूलमती के पति घर में मौजूद नहीं थे। परिवार के अन्य सदस्य भी घटना से हतप्रभ रह गये। इसके बाद घटना के संबंध में परिवार के लोगों ने गोसाईंगंज पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

पूछताछ के दौरान युवक ने बताया कि बीते कई दिनों से मेरे साथ अजीबो-गरीब घटनाएं हो रही थीं। मेरे परिजन पूजा-पाठ और टोना टोटका में काफी विश्वास रखते हैं। इन दिनों परिवार के कुछ सदस्यों से मेरे संबंध बहुत अच्छे नहीं थे। मेरे साथ होने वाली घटनाओं के पीछे मेरे माता-पिता की तरफ से मुझ पर कराया गया टोना-टोटका का प्रभाव था, जिसको लेकर कल रात मेरी घरवालों से कहा सुनी हुई। घर वालों ने मुझे पीटा और घर से निकालने का प्रयास किया। इसके बाद गुस्से में खुद पर काबू नहीं कर पाया और घटना को अंजाम दे दिया। फिलहाल घटना के बाद से बाद मौके पर घरवाले सहित आसपास रहने वाले पड़ोसी जमा हुए और वारदात को लेकर लोगों में तरह-तरह की चर्चाएं शुरू होने लगी।