दवाओं की ऑनलाइन बिक्री के विरोध में आज बंद रहेंगे देशभर के मेडिकल स्टोर

%e0%a4%a6%e0%a4%b5%e0%a4%be%e0%a4%93%e0%a4%82 %e0%a4%95%e0%a5%80 %e0%a4%91%e0%a4%a8%e0%a4%b2%e0%a4%be%e0%a4%87%e0%a4%a8 %e0%a4%ac%e0%a4%bf%e0%a4%95%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a5%80 %e0%a4%95%e0%a5%87

नई दिल्ली| आज देशभर में करीब आठ लाख से ज्यादा दवा की दुकानें बंद हैं। ये दुकानदार इंटरनेट के जरिए दवाओं की बिक्री को नियमित किए जाने के केंद्र सरकार के फैसले का विरोध कर रहे हैं। दुकानदारों का कहना है कि बगैर डॉक्टरों के प्रीसक्रिप्शन के ई- कामर्स कंपनियां प्रतिबंधित दवाएं भी लोगों को बेच रही हैं।

इन दुकानदारों ने एक हफ्ते के भीतर मामले को नहीं सुलझाए जाने पर अनिश्चिकालीन हड़ताल पर जाने की चेतावनी भी दी है। ऑल इंडिया ऑर्गनाइजेशन ऑफ केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट के मुताबिक, दवाओं की ऑनलाइन बिक्री पिछले एक साल से हो रही है, जो पूरी तरह से गैरकानूनी है।

हालांकि अन्न व औषध प्रशासन (एफडीए) ने हड़ताल में शामिल होने वालों पर मेस्मा के तहत कार्रवाई की चेतावनी दी है।

नई दिल्ली| आज देशभर में करीब आठ लाख से ज्यादा दवा की दुकानें बंद हैं। ये दुकानदार इंटरनेट के जरिए दवाओं की बिक्री को नियमित किए जाने के केंद्र सरकार के फैसले का विरोध कर रहे हैं। दुकानदारों का कहना है कि बगैर डॉक्टरों के प्रीसक्रिप्शन के ई- कामर्स कंपनियां प्रतिबंधित दवाएं भी लोगों को बेच रही हैं।इन दुकानदारों ने एक हफ्ते के भीतर मामले को नहीं सुलझाए जाने पर अनिश्चिकालीन हड़ताल पर जाने की चेतावनी भी दी है। ऑल इंडिया…