दादरी और गुलाम अली की घटना पर पीएम मोदी ने तोड़ी चुप्पी, कहा- इस घटना से दुखी हूं

नई दिल्ली| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दादरी और पाकिस्तानी गायक गुलाम अली के विरोध की घटना पर चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि वह इस घटना से दुखी हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा ने हर बार इस तरह की घटना का विरोध किया है और आगे भी करती रहेगी। एक बांग्ला अखबार को दिए साक्षात्कार में प्रधानमंत्री ने कहा कि इन घटनाओं में केंद्र सरकार का कोई योगदान नहीं है।

इससे पहले प्रधानमंत्री ने पिछले हफ्ते बिहार में चुनाव प्रचार के दौरान इस पर चुप्पी तोड़ते हुए कहा था कि लोगों को राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी की बातों पर ध्यान देना चाहिए।

नवादा में आयोजित रैली में मोदी ने कहा था, “आप राजनेताओं की बात मत सुनिए, ख़ुद नरेंद्र मोदी कहता है तो उसकी बात भी मत सुनिए। सुनना है तो देश के राष्ट्रपति ने जो बात कही है उसे सुनिए।”

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने पिछले बुधवार को नई दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में कहा था, ”हम अपनी सभ्यता के आधारभूत मूल्यों को खोने नहीं दे सकते। हमारे आधारभूत मूल्य हैं कि हमने हमेशा विविधता को स्वीकार किया है, सहनशीलता और अखंडता की वकालत की है।”