दादरी घटना बीजेपी की सोची-समझी रणनीति का हिस्सा: अखिलेश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा के दादरी कांड को लेकर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आरोप लगाया है कि बीजेपी की सोची-समझी रणनीति का हिस्सा’ थी। दादरी के बिसहाड़ा गांव में भीड़ द्वारा मोहम्मद अखलाक का कत्ल किए जाने के बाद अपने पहले इंटरव्यू में 42-वर्षीय मुख्यमंत्री ने एक प्रतिष्ठित टीवी चैनल से कहा कि उन्हें इस बात पर यकीन नहीं है कि अखलाक पर हमला अचानक किया गया।

उनकी सरकार द्वारा की गई प्राथमिक जांच का हवाला देते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि तथ्य बताते है कि दादरी में जो कुछ हुआ, वह बीजेपी और उससे जुड़े लोगों की सोची-समझी रणनीति का हिस्सा था। मुख्यमंत्री ने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि दादरी में हुई घटना की गूंज सारी दुनिया में सुनाई दी, सो, क्या यह मुमकिन है कि बीजेपी के नेतृत्व को इस बारे में पता न हो…? बीजेपी के शीर्ष नेताओं को पूरी तरह पता है कि पार्टी यूपी में क्या कर रही है…|

अखिलेश ने केंद्र में सत्तारूढ़ गठबंधन एनडीए का नेतृत्व कर रही भारतीय जनता पार्टी पर राज्य में सांप्रदायिक भावनाएं भड़काने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, “यूपी में बीजेपी समुदायों को बांटने तथा राजनैतिक मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए जल्दी-जल्दी मुद्दे बदल रही है… पहले ‘लव जेहाद’ था, फिर ‘घर वापसी और धर्मांतरण’ हुआ… मुरादाबाद में तो इन्होंने लाउडस्पीकर के इस्तेमाल को लेकर भी दिक्कतें खड़ी की थीं…”

अखिलेश यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी वार करते हुए कहा कि निवेश लाने के लिए पीएम विदेशों में घूम रहे हैं, लेकिन ऐसी घटनाओं से उन कोशिशों को नुकसान पहुंचता है… आज यहां बीजेपी के नेता भड़काऊ टिप्पणियां कर रहे हैं… मैं बीजेपी से जानना चाहता हूं, उनकी पार्टी का वह नेता कौन है, जिसकी बात ये टिप्पणियां करते कार्यकर्ता सुन लेंगे… उस नेता को सामने आकर इन्हें रोकना चाहिए…”