दादरी प्रकरण में तीन लोगो का नाम लेना मुलायम का शिगूफा: भाजपा

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी ने कहा कि सपा सुप्रीमों मुलायम सिंह यादव द्वारा दादरी प्रकरण को गहरी साजिश बताना केवल अपने पुत्र अखिलेश यादव की विफलताओं से ध्यान बांटने की चाल है। पार्टी राज्य मुख्यालय में पत्रकारों से चर्चा करते हुए प्रदेश पार्टी प्रवक्ता डा0 चन्द्रमोहन ने कहा कि जब मुजफ्फरनगर में दंगा हुआ तो सपा सप्रीमों मुलायम सिंह यादव ने कहा था कि अब प्रदेश में दंगा नहीं होगा क्या हुआ उनके कथन का प्रभाव। आखिर क्यों मुजफ्फरनगर के बाद प्रदेश में दंगों पर नियंत्रण अखिलेश सरकार नहीं कर पायी, एक के बाद एक दंगे प्रदेश में होते जा रहे है।

प्रदेश प्रवक्ता डा0 चन्द्रमोहन ने कहा कि सपा सुप्रीमों द्वारा दादरी प्रकरण को सुनियोजित साजिश और तीन लोगो के नाम की चर्चा करना केवल कोरी बयानबाजी है। आखिर सपा सुप्रीमों को इतनी जल्दी क्यों हुई ? वह पहले सरकार द्वारा जांच पूर्ण कराकर नाम सार्वजनिक करते तो प्रदेश की जनता का विश्वास अर्जित करने में सफल होते।

प्रदेश प्रवक्ता डा0 चन्द्रमोहन ने कहा कि प्रदेश में विकास कार्य ठप्प है। केवल सपाईयों को लाभ पहुंचाने का कार्य प्रदेश सरकार कर रही है। किसानों की बदहाली किसी से छिपी नहीं है। प्रदेश में बिजली संकट गहरा रहा है। सरकार में भ्रष्टाचार का बोल-बाला है।