दादरी मामले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तोड़ी चुप्पी

नई दिल्ली| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दादरी की घटना पर चुप्पी तोड़ दी है। उन्होंने कहा है की लोगों को राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की ओर से दिखाए रास्ते पर चलना चाहिए। मोदी राष्ट्रपति के बुधवार को दिए भाषण का ज़िक्र कर रहे थे जिसमें उन्होंने सहिष्णुता की अपील की थी।

राष्ट्रपति ने बुधवार को अपने भाषण में कहा था कि विभिन्नता, सहिष्णुता और बहुलता के मूल सभ्य मू्ल्यों ने भारत को सदियों से एकजुट रखा है और इन्हें नष्ट नहीं होने दिया जा सकता।

राष्ट्रपति ने कहा था, “मेरा पक्का विश्वास है कि हम अपनी सभ्यता के मुख्य मूल्यों को नष्ट होने की अनुमति नहीं दे सकते। ये मुख्य मूल्य वो हैं जिन्हें वर्षों से हमारी सभ्यता मानती आ रही है। विभिन्नता को बढावा देना, सहिष्णुता की वकालत, सहनशीलता और बहुलता।”

बिहार के नवादा में मोदी ने ऐसे नेताओं को आड़े हाथ लिया जो राजनीतिक लाभ के लिए अनावश्यक बयानबाज़ी करते हैं। मोदी ने कहा कि देश को एकजुट रहना चाहिए| दादरी में पीट पीट कर एक व्यक्ति की हत्या करने की पृष्ठभूमि में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, “हिन्दुओं और मुसलमानों को गरीबी से लड़ने के लिए मिलकर काम करना चाहिए।”

उन्होने कहा, “लोगों को राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के सहिष्णुता की अपील के भाषण का अनुसरण करना चाहिए जो हमें रास्ता दिखाता है।” मोदी ने अपनी पार्टी के नेताओं से भी कहा कि वो मुद्दे पर गैर ज़रूरी टिप्पणियां करने से बचें।