नेता जी का गायब होना सभी साजिशों की जड़: संघ

नई दिल्ली| राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) ने अपने मुखपत्र ऑर्गनाइजर में नेताजी सुभाष चंद्र बोस के गायब होने को सभी साजिशों की जड़ करार दिया। साथ ही मोदी सरकार से नेताजी की मौत के रहस्य से पर्दा उठाने के लिए साहसिक कदम उठाने को कहा है। मुखपत्र में ‘मदर ऑफ ऑल कंसपरेसीज’ शीर्षक से प्रकाशित लेख में कहा गया है कि इस तरह की कई साजिश से जुड़ी बातें नेहरू-गांधी परिवार से जुड़ी हुई हैं, लेकिन यह सभी साजिशों की जड़ निकल रही है।

वहीं, नेताजी सुभाष चंद्र बोस से जुड़ी फाइलें सार्वजनिक करने के बाद पश्चिम बंगाल सरकार ने सोमवार को उनसे जुड़े कैबिनेट दस्तावेज भी जारी कर दिए। यह दस्तावेज वर्ष 1938-1947 के बीच के हैं। इस बीच, बोस के परिजनों ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उनकी मुलाकात के लिए 14 अक्तूबर की तिथि तय हो गई है।

{ यह भी पढ़ें:- मुकुल रॉय का राज्यसभा से इस्तीफा, बोले पार्टी कार्यकर्ता किसी का नौकर नहीं }

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा, यह दस्तावेज आजादी-पूर्व भारत के लिए गोपनीय रहे होंगे। लेकिन वर्तमान में इन्हें सार्वजनिक करने की जरूरत है। इसलिए हमने उन्हें सार्वजनिक किया। ममता ने उस दौरान हुई कैबिनेट की 401 बैठकों के दस्तावेजों की सूचनाओं वाली एक सीडी भी जारी की। इस अवधि में भारत छोड़ो आंदोलन, बंगाल का अकाल और बंगाल विभाजन जैसी घटनाएं हुई थीं। प्रदेश सरकार ने इसी महीने नेताजी से जुड़ी 64 फाइलें सार्वजनिक की थी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि ये दस्तावेज राज्य अभिलेखागार, राज्य सूचना केंद्रीय और राज्य केंद्रीय पुस्तकालय में जनता, अनुसंधानकर्ताओं, इतिहास लेखकों और छात्रों के लिए उपलब्ध होंगे। उन्होंने कहा कि इन फाइलों के डिजिटलाइजेशन का काम 2013 में शुरू हुआ। फिलहाल 1947 के बाद 10 वर्षों के कैबिनेट दस्तावेजों को डिजिटल करने का काम चल रहा है।

{ यह भी पढ़ें:- जय अमित शाह के बचाव में बोली RSS- आरोप लगाने वाले पहले सिद्ध करें }

Loading...