नेपाल पुलिस की शह पर प्रदर्शन कर रहे मधेशीयों पर हुआ पथराव

महाराजगंज। पड़ोसी देश नेपाल में बने संविधान को लेकर जारी विरोध प्रदर्शन मंगलवार को भी देखने को मिला लेकिन इस समय विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों को भारी पथराव का सामना करना पड़ा। दरअसल, मंगलवार को सोनौली बार्डर पर के मधेशी नेता व प्रदर्शनकरी नो मैस लैंड पर पहुँचकर प्रदर्शन के लिए जुटने लगे तभी पहाड़ियों पर पहुंचे एक झुंड ने मधेशीयों पर ईट-पत्थर बरसाना शुरू कर दिया। बताया जा रहा है कि नेपाल पुलिस के भी कुछ जवान पहाड़ियों पर खड़े होकर पथराव कर रहे थे। घटना के बाद से बॉर्डर पर दोनों तरफ स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है।

मिली जानकारी के अनुसार, मंगलवार दोपहर नो मैस लैंड पर मधेशी नेता और कार्यकर्ता जैसे अपने धरना प्रदर्शन के लिए पहुचे, तभी नेपाल के बेलाहिया से सैकड़ो की संख्या में पहाड़ी समुदाय के लोग मधेशी मुर्दाबाद का नारा लगाते हुए आ पहुचे और ईट-पत्थर बरसाने लगे। नेपाली पुलिस के कुछ जवानों को भी ईट-पत्थर से मारते देखा गया। करीब आधे घंटे तक चले इस पथराव के दौरान ही एक मधेशी युवक आकाश उर्फ समशेर अली को नेपाल पुलिस घसीटते हुए बेलाहिया चौकी ले गई।

{ यह भी पढ़ें:- ओली बने नेपाल के नए प्रधानमंत्री, ग्रहण की शपथ }

नेपाली सूत्रों के अनुसार, पहडियो के एक दल ने नेपाल के होटल में बैठकर मधेशी नेता और प्रदर्शनकारियो के खिलाफ षड्यंत्र रचा था और बार्डर पर पहुँकर घटना को अंजाम दिया। घटना के दौरान दोनों तरफ अफरा-तफरी मची रही। सभी दुकाने बंद होने लगी। कई लोग इधर-उधर भागते नजर आए। बताया जा रहा है कि यह पूरी घटना नेपाल पुलिस के सह पर हुई है। हालांकि, सोनौली पुलिस के सूझबूझ ने एक बड़े हादसे को टाल दिया है। बार्डर पर पुलिस एसएसबी पीएसी खुफिया तंत्र अलर्ट है।

{ यह भी पढ़ें:- नेपाल में हिंसक आन्दोलन की पीछे कोई और… }

Loading...