पहले सरेंडर करें, फिर बेल मांगें सोमनाथ भारती: सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली| घरेलू हिंसा के मामले में फंसे आम आदमी पार्टी के नेता व दिल्ली के पूर्व कानून मंत्री सोमनाथ भारती की मुश्किलें दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही हैं| सोमनाथ भारती की अग्रिम जमानत याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को कहा है कि सोमनाथ पहले सरेंडर करें, फिर बेल मांगें|

सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें शाम साढ़े छह बजे तक सरेंडर करने को कहा है| लेकिन सोमनाथ अभी तक गायब हैं| सुनवाई से पहले उनके वकील ने दिल्ली के पुलिस कमिश्नर बीएस बस्सी और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को चिट्ठी लिखी| वकील दीपक खोसला ने कहा है कि दिल्ली पुलिस इस केस की निष्पक्ष जांच नहीं कर रही है|

{ यह भी पढ़ें:- 'पद्मावती' की रिलीज रोकने से सुप्रीम कोर्ट का इंकार }

सोमनाथ भारती वैसे तो पेशे से वकील और राजनीतिज्ञ हैं लेकिन वकालत और राजनीति के साथ सोमनाथ को भेष बदलने में महारत हासिल है, पुलिस का दावा है कि सोमनाथ भारती कभी सरदार तो कभी साधु की तरह, लोगों के बीच अपनी जरूरतों के सामान लेने के लिए जाते है और फिर वहां से गायब हो जाते है, पुलिस का ये भी दावा है कि सोमनाथ पश्चिमी उत्तर प्रदेश में साधु के भेष में छिपे हुए है, जिसकी वजह से वो पुलिस की नजरों से बच जा रहे है|

सोमनाथ की पत्नी लिपिका मित्रा ने उनके खिलाफ घरेलू हिंसा का केस दर्ज कराया है| उनके खिलाफ हत्या के प्रयास का भी केस है| दिल्ली हाईकोर्ट से अग्रिम जमानत याचिका खारिज होने के बाद सोमनाथ ने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी लगाई थी|

{ यह भी पढ़ें:- चुनावी घोषणाओं में लैपटॉप आॅफर की फैशन बरकरार, अब हिमाचल में कांग्रेस बांटेगी }

Loading...