पीएम मोदी मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक कर लेंगे लॉकडाउन पर निर्णय

PM-Modi
PM मोदी बोले- 14 अप्रैल को लॉकडाउन हटाना संभव नहीं

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए अब देश में लॉकडाउन बढ़ाने की चर्चा जोरों पर है। लॉकडाउन की अवधि को बढ़ाया जाएगा या नहीं, इस पर लोगों में बेचैनी बढ़ गई है। हालांकि केंद्र सरकार की तरफ से लॉकडाउन को बढ़ाने को लेकर अभी कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है। संभावना जताई जा रही है कि शनिवार को इस पर निर्णय लिया जा सकता है।

%e0%a4%aa%e0%a5%80%e0%a4%8f%e0%a4%ae %e0%a4%ae%e0%a5%8b%e0%a4%a6%e0%a5%80 %e0%a4%ae%e0%a5%81%e0%a4%96%e0%a5%8d%e0%a4%af%e0%a4%ae%e0%a4%82%e0%a4%a4%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a4%bf%e0%a4%af%e0%a5%8b%e0%a4%82 :

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना संकट पर विचार करने के लिए शनिवार को दूसरी बार राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक बुलाई है। बैठक 11 अप्रैल शनिवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये होगी। इसी बैठक में लॉक डाउन के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अंतिम फैसला लेंगे।

ये दूसरी बार होगा जब प्रधानमंत्री कोरोना वायरस के मसले पर सभी मुख्यमंत्रियों से सीधी वार्ता करेंगे। इससे पहले देश में 21 दिनों का लॉकडाउन लागू करने के बाद पीएम मोदी ने हर राज्य के सीएम से चचार् की थी और कोरोना से निपटने की तैयारियों के बारे में जानकारी ली थी। वहीं, सरकार के सूत्रों ने बताया था कि कई राज्यों से अनुरोध मिलने के बाद सरकार लॉकडाउन की अविधि को बढ़ाने पर विचार कर रही है।

गौरतलब है कि लॉक डाउन के बाद से कोरोना के मसले पर पीएम मोदी अब तक दो बार राष्ट्र को संबोधित कर चुके हैं जिसमें एक बार कोरोना वायरस के चलते एक दिन का जनता कफ्यूर् का ऐलान किया गया था। दूसरी बार उन्होंने 21 दिनों के लॉकडाउन का ऐलान किया था। लॉकडाउन खत्म होने की मियाद 14 अप्रैल है।

वहीं, प्रधानमंत्री ने बुधबार को लोकसभा और राज्यसभा के फ्लोर लीडर्स के साथ बातचीत की। बैठक में लोकसभा और राज्यसभा में 5 सदस्यों से अधिक सांसदों वाली पार्टियों के नेताओं से पीएम मोदी ने बात की। इससे पहले पीएम खुद कोरोना वायरस पर अलग-अलग क्षेत्र के लोगों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बात कर चुके हैं। इनमें मेडिकल, मीडिया, समाजसेवा, बिजनेस समेत अन्य तबकों के कई लोग शामिल रहे हैं। गौरतलब है कि कोरोना वायरस के मामलों में पिछले दो से तीन दिनों में काफी तेजी आई है। देश में कोरोना पीड़ित लोंगो की संख्या 5194 हो गया है, जबकि 149 लोगों की मौत हो गई है।

यह मुख्यमंत्री हैं लॉकडाउन बढ़ाने के पक्ष में
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह (मध्यप्रदेश), के चंद्रशेखर राव (तेलंगाना), योगी आदित्यनाथ (यूपी), उद्धव ठाकरे (महाराष्ट्र) अरविंद केजरीवाल (दिल्ली) और अशोक गहलोत (राजस्थान) लॉकडाउन बढ़ाने के पक्ष में दिख रहे हैं।

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए अब देश में लॉकडाउन बढ़ाने की चर्चा जोरों पर है। लॉकडाउन की अवधि को बढ़ाया जाएगा या नहीं, इस पर लोगों में बेचैनी बढ़ गई है। हालांकि केंद्र सरकार की तरफ से लॉकडाउन को बढ़ाने को लेकर अभी कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है। संभावना जताई जा रही है कि शनिवार को इस पर निर्णय लिया जा सकता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना संकट पर विचार करने के लिए शनिवार को दूसरी बार राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक बुलाई है। बैठक 11 अप्रैल शनिवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये होगी। इसी बैठक में लॉक डाउन के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अंतिम फैसला लेंगे। ये दूसरी बार होगा जब प्रधानमंत्री कोरोना वायरस के मसले पर सभी मुख्यमंत्रियों से सीधी वार्ता करेंगे। इससे पहले देश में 21 दिनों का लॉकडाउन लागू करने के बाद पीएम मोदी ने हर राज्य के सीएम से चचार् की थी और कोरोना से निपटने की तैयारियों के बारे में जानकारी ली थी। वहीं, सरकार के सूत्रों ने बताया था कि कई राज्यों से अनुरोध मिलने के बाद सरकार लॉकडाउन की अविधि को बढ़ाने पर विचार कर रही है। गौरतलब है कि लॉक डाउन के बाद से कोरोना के मसले पर पीएम मोदी अब तक दो बार राष्ट्र को संबोधित कर चुके हैं जिसमें एक बार कोरोना वायरस के चलते एक दिन का जनता कफ्यूर् का ऐलान किया गया था। दूसरी बार उन्होंने 21 दिनों के लॉकडाउन का ऐलान किया था। लॉकडाउन खत्म होने की मियाद 14 अप्रैल है। वहीं, प्रधानमंत्री ने बुधबार को लोकसभा और राज्यसभा के फ्लोर लीडर्स के साथ बातचीत की। बैठक में लोकसभा और राज्यसभा में 5 सदस्यों से अधिक सांसदों वाली पार्टियों के नेताओं से पीएम मोदी ने बात की। इससे पहले पीएम खुद कोरोना वायरस पर अलग-अलग क्षेत्र के लोगों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बात कर चुके हैं। इनमें मेडिकल, मीडिया, समाजसेवा, बिजनेस समेत अन्य तबकों के कई लोग शामिल रहे हैं। गौरतलब है कि कोरोना वायरस के मामलों में पिछले दो से तीन दिनों में काफी तेजी आई है। देश में कोरोना पीड़ित लोंगो की संख्या 5194 हो गया है, जबकि 149 लोगों की मौत हो गई है। यह मुख्यमंत्री हैं लॉकडाउन बढ़ाने के पक्ष में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह (मध्यप्रदेश), के चंद्रशेखर राव (तेलंगाना), योगी आदित्यनाथ (यूपी), उद्धव ठाकरे (महाराष्ट्र) अरविंद केजरीवाल (दिल्ली) और अशोक गहलोत (राजस्थान) लॉकडाउन बढ़ाने के पक्ष में दिख रहे हैं।