प्याज के बाद मंहगी चीनी खरीद कर फंसी केजरीवाल सरकार, एसीबी ने दर्ज की शिकायत

नई दिल्ली। दिल्ली में मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के नेतृत्व वाली सरकार के खिलाफ मंहगा प्याज खरीदने में घोटाले की जांच चल ही रही थी अब यह सरकार कथित रूप से मंहगी चीनी खरीदने के मामले में फंस चुकी है। आरटीआई से प्राप्त जानकारी के मुताबिक दिल्ली सरकार ने दो निजी कंपनियों से बाजार से ज्यादा दामों पर चीनी खरीदी है।

मिली जानकारी के मुताबिक आरटीआई कार्यकर्ता विवेक गर्ग द्वारा मांगी गई जनसूचना में खुलासा हुआ है कि दिल्ली सरकार ने गरीबों को केन्द्र सरकार द्वारा सब्सिडी पर चीनी देने के लिए खरीदी गई एक करोड़ एक लाख किलो चीनी को बाजार से ज्यादा दाम पर खरीदा है। आरटीआई से मिली जानकारी के मुताबिक दिल्ली सरकार ने दो निजी कंपनियों से 30 से 33 रुपए प्रति किलो के दाम पर चीनी खरीदी है। जबकि दिल्ली के खुदरा बाजार में चीनी 30 रुपये प्रति किलो के हिसाब से मिल रही है। ऐसे में दिल्ली सरकार पर आरोप लगा है कि बाजार के खुदरा दामों से ज्यादा कीमत चुका कर चीनी खरीद कर बड़े घोटाले को अंजाम दिया गया है।

इस कथित चीनी घोटाले की शिकायत दिल्ली की भ्रष्टाचार निरोधी शाखा में भी दर्ज करवाई गई है। एसीबी ने शिकायत मिलने की पुष्टि करते हुए कहा है कि मामला दर्ज कर लिया गया है।

आपको बता दें कि केन्द्र सरकार की योजना के तहत गरीबों को 90 फीसदी सब्सिडी पर चीनी उपलब्ध करवाई जाती है। इसी योजना की खरीद में दिल्ली सरकार पर मंहगी चीनी खरीद कर घोटाले को अंजाम देने के आरोप लगे है।