प्रदेश को खुशहाली व तरक्की के रास्ते पर ले जाना ही सरकार का लक्ष्य: अखिलेश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि प्रदेश की समाजवादी सरकार का लक्ष्य उत्तर प्रदेश को खुशहाली व तरक्की के रास्ते पर ले जाना है। सेक्युलर और समाजवादी रास्ता ही विकास का वास्तविक रास्ता हो सकता है। पिछले साढ़े तीन साल के समय में समाजवादी सरकार प्रदेश को बहुत आगे ले आयी है। राज्य की स्थिति में काफी सकारात्मक बदलाव आया है। उत्तर प्रदेश ने वर्तमान में अनेक राज्यों को विकास गतिविधियों के मामले में काफी पीछे छोड़ दिया है।

मुख्यमंत्री आज जनपद बरेली के इज्जतनगर स्थित रेलवे के स्पोट्र्स स्टेडियम में बरेली-बागेश्वर स्टेट हाईवे-37 के तहत बरेली से बहेड़ी तक पीपीपी माॅडल पर नवनिर्मित 4-लेन सड़क के लोकार्पण समारोह में अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। बाद में, उत्तराखण्ड के काठगोदाम, हल्द्वानी में आयोजित एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मार्ग का नाम प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री श्री नारायण दत्त तिवारी के नाम पर रखा जाएगा।

बरेली-बागेश्वर स्टेट हाईवे-37 के तहत बरेली से बहेड़ी तक के नवनिर्मित मार्ग के लोकार्पण समारोह में मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के विकास में अपने संसाधनों के साथ-साथ निजी क्षेत्र का भी सहयोग ले रही है। यह सड़क भी निजी क्षेत्र के सहयोग से बनायी गई है। इस सड़क के बन जाने से अभी तक जो दूरी दो से तीन घण्टे में तय की जा रही थी, उसे एक घण्टे में तय किया जा सकेगा। इससे उत्तराखण्ड राज्य को भी फायदा होगा। सड़कों के निर्माण में तेजी के लिए उन्होंने उपशा के सीईओ नवनीत सहगल को बधाई दी। यादव ने कहा कि अगर स्पीड को दो गुना कर दिया जाये तो अर्थव्यवस्था की गति तीन गुना हो जाती है अर्थात रफ्तार बढ़ने से खुशहाली और तरक्की की रफ्तार भी बढ़ जाती है। प्रदेश सरकार ने जिन सड़कों का शिलान्यास किया था वे अब पूरी होने लगी हैं और उनका उद्घाटन भी होने लगा है। समाजवादी सरकार सभी जिला मुख्यालयों को 4-लेन सड़कों से जोड़ने की योजना पर काम कर रही है। प्रदेश में अनेक जगहों पर 4-लेन सड़क बनायी जा रही है। समाजवादियों को एक और मौका मिलने पर प्रदेश के सारे जनपद 4-लेन की सड़कों से जुड़ जायेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि एक ओर समाजवादी सरकार प्रदेश को विकास के रास्ते पर ले जा रही है, वहीं तमाम ताकतें ऐसी हैं, जिनका विकास से कोई लेना-देना नहीं है। वे केवल माहौल खराब करने का काम कर रही हैं। ये ताकतें ऐसे सवालों पर चर्चा करना चाहती हैं, जिनका विकास से कोई वास्ता नहीं है। ये सवाल ऐसे हैं, जो समाज को बांटने के साथ ही विदेशों में देश की बदनामी कराते हैं तथा सेक्युलर ताने-बाने को तोड़ते हैं। ये ताकतें केवल सत्ता में आने के लिए ऐसे सवाल उठाती हैं। यादव ने कहा कि इन ताकतों को समाजवादी सरकार से विकास के मामले में मुकाबला करना चाहिए।