1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. फिट इंडिया मूवमेंट: पीएम ने क्यों कहा मां पूछा करती हैं बेटा हल्दी खा रहे हो या नहीं, जानिए कारण

फिट इंडिया मूवमेंट: पीएम ने क्यों कहा मां पूछा करती हैं बेटा हल्दी खा रहे हो या नहीं, जानिए कारण

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी के आह्वान पर बीते साल फिट इंडिया मूवमेंट की शुरुआत की गयी थी। पहली वर्षगांठ के मौके पर फिट इंडिया संवाद कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इस संवाद में टीम इंडिया (क्रिकेट) के कप्तान विराट कोहली, मॉडल और एक्टर मिलिंद सोमन, पारा एथिलीट देवेन्द्र झाझड़िया के साथ-साथ योग क्षेत्र के लोग भी शामिल हुए।.

पढ़ें :- यूपी के 3 लाख छोटे दुकानदारों, ठेले-खोमचे वालों को 27 अक्टूबर को पीएम मोदी करेंगे ऋण वितरण

चर्चा के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना के कारण इन दिनों एक या दो दिन में मां से बात करता हूं। इस दौरान वह पूछती हैं कि हल्दी खा रहे हो या नहीं। इसके साथ ही पीएम मोदी ने इस दौरान लोगों से स्थानीय खाना खाने की अपील की थी।

फिट इंडिया संवाद की बड़ी बातें….

1. पीएम मोदी ने इस दौरान कहा कि देशवासी फिट इंडिया मूवमेंट से ज्यादा से ज्यादा जुड़ते रहेंगे। उन्होंने कहा कि जितना इंडिया फिट होगा उतना ही हिट होगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि जब हम खुद को फिट रखते हैं तो आत्मविश्वास आता है। यही आत्मविश्वास हमें जीवन में खुद को आगे रखने में मदद करता है। महामारी के दौरान कई परिवारों ने साथ मिलकर व्यायाम किया।

2. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस संवाद के दौरान ‘फिटनेस का डो़ज, आधा घंटा रोज’ का मंत्र दिया। उन्होंने देशवासियों से खुद को फिट रखने के लिए आधा घंटा कुछ न कुछ व्यायाम या शारीरिक खेल खेलने की अपील की।

पढ़ें :- गुजरात में पीएम मोदी ने किया तीन परियोजनाओं का उद्घाटन, किसानों को सुबह 5 बजे से रात 9 बजे तक मिलेगी बिजली

3. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि फिट इंडिया मूवमेंट की पहली वर्षगांठ पर मैं देश के सभी लोगों के अच्छे स्वास्थ्य की कामना करता हूं। उन्होंने कहा कि योग, आसान, अच्छा खाना अब हमारी आदत बन रही है। इस एक साल में छह महीने का समय काफी प्रतिबंधों के बीच निकला है।

4. फिटनेस संवाद के दौरान पीएम मोदी ने विराट कोहली से यो-यो टेस्ट के बारे में भी पूछा। उन्होंने कहा कि यह टीम के लिए बहुत जरूरी है। इससे फिटनेस लेवल बना रहता है। उन्होंने यह भी कहा कि हमें दुनिया की अन्य टीमों के खिलाड़ियों की तुलना में खुद को अधिक फिट रखने की आवश्यक्ता है।

5. संवाद के दौरान विराट कोहली ने कहा कि मैं खुद का प्रक्टिस मिस भी कर देता हूं, लेकिन फिटनेस सेशन नहीं करता हूं। विराट कोहली ने लोगों से डाइट पर भी ध्यान देने की अपील की।

6. प्रधानमंत्री के एक सवाल में स्वामी शिवध्यानम सरस्वती ने कहा कि हमारी प्राचीन गुरुकुल पद्धति में हमें बौद्धिक शिक्षा के साथ-साथ उसे अपने जीवन में उतारने का मौका मिलता था। हमारा मानना है कि योग सिर्फ अभ्यास नहीं, जीवन जीने की कला है। हम आश्रम में एक वातावरण कराते हैं कि योग के सिद्धातों को हम कैसे अपने जीवन में उतार सकते हैं।

पढ़ें :- बिहार चुनाव: पीएम मोदी बोले-त्योहार के इस माहौल में लोकल सामान ही खरीदें

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...