बच्चे का गला काट पूरे घर में छिड़का खून

बेंगलुरु| यदि हम यह सोच रहे हैं कि आजकल के पढ़े लिखे परिवार अंधविश्वास को नहीं मानते हैं तो यह कहना लगत होगा। अंधविश्वास के मामले आए दिन सामने आ रहे हैं| ताजा मामला आंध्र प्रदेश है| यहाँ ओंगोल के प्रकाशम जिले में एक शख्स ने जादू टोने के चलते पांच साल के एक बच्चे की हत्या कर दी। जिसके बाद स्थानीय लोगों ने आरोपी की पिटाई की और उसे आग के हवाले कर दिया।

कन्दुकुर सर्किल इंस्पेक्टर एम लक्ष्मण ने बताया कि घटना बुधवार दोपहर को वोलेटीवरीपलेम मंडल के पोकुर गांव में घटी। जहां हत्या का मामला सामने आने के बाद स्थानीय लोगों ने आरोपी तिरमला राव को पीटा और उसे आग लगा दी। स्थानीय लोगों के हवाले से पुलिस ने बताया कि उसी गांव के निवासी राव ने जादू टोने से संबंधी अंधविश्वास के तहत लड़के की हत्या कर दी।

उन्होंने बताया कि करीब 35 के आसपास की उम्र के आरोपी ने आंगनवाड़ी से बच्चे को उठाकर अपने घर ले गया, जहां उसने पूजा की। उसके बाद उसने बच्चे का सिर काट दिया, एक बर्तन में रक्त को इकट्ठा किया और अपने पूरे घर में इसका छिड़काव किया। पुलिस ने गांव में पहुंचकर राव को बचाया और इलाज के लिए उसे अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। लक्ष्मण ने कहा कि पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और जांच जारी है।