बिना स्याही पोछे ही कसूरी की किताब की लॉचिंग में पहुंचे सुधींद्र कुलकर्णी

नई दिल्ली| पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री खुर्शीद महमूद कसूरी की किताब ‘नाइदर ए हॉक नॉर ए डोव :एन इंसाइडर्स एकाउन्ट ऑफ पाकिस्तान्स फॉरेन पॉलिसी’ के विमोचन का आयोजन करने वाले सुधींद्र कुलकर्णी के चेहरे पर आज शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने स्याही पोत दी। इसके बाद सुधींद्र कुलकर्णी शिवसेना के प्रति अपना विरोध जताते हुए बिना स्याही पोछे ही कार्यक्रम में पहुंच गए।

कुलकर्णी ने कहा कि शिवसेना किसी तरह गुलाम अली का शो रद्द कराने में तो कामयाब हो गई थी लेकिन इस किताब के लिए जो कार्यक्रम तय था, वो होकर रहेगा। कुलकर्णी ने बताया कि शिवसेना ने नेहरू सेंटर को भी धमकी दी थी कि वे यह कार्यक्रम रद्द कर दें वरना टिपिकल शिवसेना स्टाइल में हम डिस्टर्ब करेंगे लेकिन यह कार्यक्रम अब हर हाल में होगा।

पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री कसूरी ने घटना को बेहद अफसोसजनक करार दिया है। उन्होंने कहा कि लोगों को विरोध का अधिकार है, मैं ऐसी चीजों से परेशान नहीं होता। भारत-पाकिस्तान में कुछ ऐसे लोग हैं जो दोनों मुल्कों में अच्छे रिश्ते नहीं चाहते।

उधर, स्याही पोतने की घटना पर शिवसेना के संजय राउत ने कहा कि यह बहुत छोटी-सी प्रतिक्रिया है, अगर मुंह पर स्याही लगी है तो उनको इतना गुस्सा आया है, यह स्याही नहीं, हमारे जवानों का खून आपके मुंह पर लगा है।