बिसाहड़ा में बढ़ते तनाव को देखते हुए शासन बैकफुट पर, जेलर बीएस मुकुन्द का तबादला

लखनऊ। नोएडा के बिसाहड़ा में बढे तनाव को देखते हुए शासन ने बड़ा कदम उठाया है, लुक्सर जेल के जेलर बीएस मुकुन्द का तबादला लखनऊ मुख्यालय कर दिया गया है। यह फैसला तब लिया गया जब अखलाक की हत्या के आरोप में जेल में बंद रवि की मौत के बाद शासन बैकफुट आता नजर आया । जेल के अंदर रवि की मौत के बाद ग्रामीणों के बढ़ते आक्रोश ने यह फैसला शासन को लेने पर मजबूर कर दिया।

अखलाक हत्याकांड के आरोपी रवि की जेल में मौत पर घिरे जेलर बीएस मुकुन्द

आपको बता दें कि जेलर बीएस मुकुन्द का विवादों से पुराना नाता रहा है, एनआरएचएम घोटाले में आरोपी डॉ वाई.एस. सचान की मौत के दौरान भी बीएस मुकुन्द लखनऊ जेल में जेलर थे। इस मामले में सीबीआई ने मुकुन्द से कड़ी पूछताछ की थी। रवि की मौत मामले में भी परिजन सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं।




परिजनों ने जेल प्रशासन पर मारपीट व प्रताड़ना का आरोप लगाया है। अख़लाक़ हत्याकांड मामले में आरोपियों की पैरवी कर रहे संजय राणा का कहना है कि जेल में बंद 14 अन्य लोग सुरक्षित नहीं है, उन्हें प्रदेश के बाहर अन्य जेलों में स्थानांतरित किया जाए। संजय का कहना है कि इसके लिए वो सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल करेंगे।



Loading...