बिहार में तीसरे मोर्चे की मदद के बिना नहीं बनेगी सरकार: पप्पू यादव

पटना। बिहार में तीसरे मोर्चे के साथ मिलकर जारी विधानसभा चुनाव में शिरकत करने वाले जन अधिकार पार्टी के प्रमुख और सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने मंगलवार को एक बार फिर हुंकार भरी है। उन्होने दावा किया कि तीसरे मोर्चे के समर्थन के बिना बिहार में कोई सरकार नहीं बनेगी। उन्होंने कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव में दोनों गठबंधनों में से किसी के भी बहुमत हासिल करने की संभावना नहीं है।

पप्पू यादव ने यह वक्तव्य मोकामा के घोसवारी-बैजना क्षेत्र में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए दिया। इस चुनावी सभा में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि इस चुनाव में न तो भारतीय जनता पार्टी नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) को और न ही सत्ताधरी महागठबंधन को स्पष्ट बहुमत मिलेगा। उन्होंने कहा कि ऐसी स्थिति में सरकार बनाने के लिए तीसरे मोर्चे की जरूरत होगी। 

पप्पू यादव ने कहा कि सभी जातियों के लोग दोनों गठबंधनों से निराश हैं। इनमें से किसी को बहुमत मिलने का कोई प्रश्न ही नहीं है। तीसरे मोर्चे के समर्थन के बिना कोई भी गठबंधन सरकार बनाने में सफल नहीं होगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लहर को नकारते हुए यादव ने कहा कि बिहार में किसी की कोई लहर नहीं है और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और लालू प्रसाद का गठबंधन बेकार हो गया है। ऐसे में तीसरा मोर्चा ही मतदाताओं के लिए विकल्प है। उन्होंने लालू पर परिवारवाद करने का आरोप लगाते हुए कहा कि लालू ने जाति के नाम पर केवल वोट की राजनीति की है और अपने परिवार के लोगों के उत्थान की सोची है। 

उल्लेखनीय है कि जन अधिकार पार्टी छह दलों के साथ एक मोर्चा बनाकर चुनाव मैदान में उतरी है। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) हालांकि बाद में इस मोर्चा से अलग हो गई।